ब्रिटेन से भारत लाया गया सटोरिया संजीव चावला, विजय माल्या-नीरव मोदी को लेकर जगी उम्मीदें

गुरुवार, 13 फ़रवरी 2020 (18:43 IST)
नई दिल्ली। दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोनिए की संलिप्तता वाले मैच फिक्सिंग मामले के एक प्रमुख आरोपी संजीव चावला को गुरुवार को ब्रिटेन से प्रत्यर्पित किया गया। दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि ब्रिटेन का 50 वर्षीय नागरिक सुबह आईजीआई हवाई अड्डे पहुंचा।
 
संजीव चावला को गुरुवार को 12 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। चावला के प्रत्यर्पण के बाद अब भगोड़े कारोबारी विजय माल्या और नीरव मोदी को ब्रिटेन से भारत लाने की उम्मीदें तेज हो गई हैं।
 
संजीव चावला ये हैं आरोप : पुलिस ने अदालत को बताया कि चावला 5 मैचों की फिक्सिंग में शामिल है। चावला पर फरवरी-मार्च 2000 में दक्षिण अफ्रीका टीम के भारत दौरे पर मैच फिक्सिंग के लिए क्रोनिए के साथ मिलकर साजिश रचने का आरोप है। क्रोनिए की 2002 में विमान दुर्घटना में मौत हो गई थी।
 
होगा बड़ी साजिश का खुलासा : ब्रिटिश अदालत के दस्तावेजों में कहा गया है कि दिल्ली में जन्मा व्यवसायी चावला 1996 में व्यापार वीजा पर ब्रिटेन चला गया था, लेकिन वह भारत की यात्रा करता रहा अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट सुधीर कुमार सिरोही ने चावला को 12 दिन की पुलिस हिरासत में भेजने का आदेश दिया।
 
पुलिस ने अदालत से चावला को 14 दिन के लिए सौंपने का अनुरोध किया था। चावला को बड़ी साजिश का पता लगाने के लिए विभिन्न स्थानों पर ले जाया जायेगा और कई लोगों से आमना-सामना कराया जाएगा।
 
1992 में भारत-ब्रिटेन में हुई थी प्रत्यर्पण संधि : भारत और ब्रिटेन के बीच प्रत्यर्पण संधि पर वर्ष 1992 में हस्ताक्षर किए गए थे।
चावला के प्रत्यर्पण से अलग-अलग बैंक घोटालों में भगोड़े घोषित शराब किंग विजय माल्या और डायमंड कारोबारी नीरव मोदी को भी भारत वापस लाने की उम्मीदें बढ़ जाएंगी। इन दोनों के प्रत्यर्पण की प्रक्रिया भी ब्रिटिश अदालतों में लंबित है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को अनूठी श्रद्धांजलि