भारी बारिश की चेतावनी, जम्मू से रवाना हुई पर पड़ावस्थलों से रोकी अमरनाथ यात्रा

सुरेश डुग्गर

शनिवार, 27 जुलाई 2019 (17:40 IST)
जम्मू। हालांकि एक दिन स्थगित रहने के बाद अमरनाथ यात्रा को आज शनिवार को बहाल कर दिया गया। लेकिन पड़ावस्थलों से यात्रा को इसलिए रोक दिया गया है क्योंकि मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर कहा है कि अगले 24 घंटे जम्मू कश्मीर के लिए भारी हो सकते हैं।
 
मौसम खराब होने के कारण गत दिवस यात्रा को जम्मू से रवाना नहीं किया गया था। हालांकि जम्मू में आज सुबह बारिश थी लेकिन प्रशासन ने सारे प्रबंधों पर विचार-विमर्श करने के बाद अमरनाथ के जत्थे को बारिश के बीच पहलगाम और बालटाल के लिए रवाना कर दिया। वहीं दूसरी तरफ मौसम खराब होने के कारण यात्रा मार्ग पर फिसलन को देखते हुए बालटाल मार्ग से पवित्र गुफा की तरफ यात्रा को नहीं भेजा है।
 
यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में लगातार उत्साह बना हुआ है और अब तक 3.25 लाख के करीब श्रद्धालुओं ने पवित्र गुफा में शिवलिंग के दर्शन कर लिए हैं। एक जुलाई से शुरू हुई यात्रा ने 4 वर्ष का रिकॉर्ड पहले ही तोड़ दिया है ओर उम्मीद है कि इस बार यह आंकड़ा 5 लाख को पार कर जाएगा। यात्रा 15 अगस्त को रक्षाबंधन वाले दिन संपन्न होगी।
 
दूसरी ओर मौसम विभाग ने जम्मू कश्मीर के लिए अलर्ट जारी किया है। विभाग का कहना है कि अगले 24 घंटों में राज्य में भारी बारिश की संभावना है और ऐसे में लोगों को सतर्क रहने की आवश्यकता है। यह चेतावनी तीनों खित्तों के लिए जारी की गई है। अमरनाथ यात्रा मार्ग पर भी भारी बारिश की संभावना जताई गई है और श्रद्धालुओं को यात्रा मार्ग पर सावधानी बरतने को कहा गया है।
 
विभाग के अनुसार जम्मू, कश्मीर और लद्दाख में जारी बारिश अभी 24 घंटे और रहेगी। मिट्टी गीली है और ऐसे में ज्यादा बारिश से लैंडस्लाइड की संभावना है। वहीं फ्लैश फ्लड की भी बात कही गई है। लोगों से सतर्कता बरतने को कहा गया है। अमरनाथ यात्रा मार्ग पर एसडीआरएफ की टीमों को अलर्ट पर रखा गया है। फ्लैश फ्लड आने से शुक्रवार को मेंढर में एक महिला की मौत हो गई थी। वहीं भूस्खलन से राज्य में एक महिला की मौत हो गई है जबकि तीन लोग घायल और 150 से अधिक मवेशी भी मारे गए हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख 4 देशों में बाढ़ से 600 लोगों की मौत, 5 लाख से ज्यादा को छोड़ना पड़ा घर