जेटली के आवास पर 3 घंटे से अधिक समय तक रुके रहे अमित शाह

रविवार, 25 अगस्त 2019 (00:27 IST)
नई दिल्ली। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली के कैलाश कॉलोनी स्थित आवास पर शनिवार को करीब 3.30 घंटे बिताए। जेटली का शनिवार दोपहर को एम्स में निधन हो गया। शाह ने कहा कि जेटली भ्रष्टाचार के खिलाफ योद्धा थे। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जनधन योजना को जनता तक ले जाने, नोटबंदी और जीएसटी के सफल कार्यान्वयन का श्रेय उन्हें था।
 
गृहमंत्री शाह ने कहा कि अरुण जेटली को खोने का दर्द पूरे देश और भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए असहनीय है। अरुण जेटलीजी ने 1970 से ही इस देश के राजनीतिक क्षेत्र में काम किया। आपातकाल के दौरान वे एक छात्र नेता के तौर पर 19 महीने जेल में रहे थे।
 
उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय में बेहतरीन वकील के तौर पर वे कानून के माध्यम से कई लोकहित के मुद्दों से निपटे। उन्होंने भ्रष्टाचार के कई मामलों में अपनी आवाज उठाई। उन्होंने काफी योगदान दिया। सांसद के तौर पर वे लोगों की आवाज रहे और भ्रष्टाचार के खिलाफ योद्धा रहे।
 
गृहमंत्री ने कहा कि संसद ने स्पष्ट और बहुमुखी प्रतिभा के धनी वक्ता को खो दिया, उच्चतम न्यायालय ने अपना सबसे कुशल वकील खो दिया और भाजपा ने अपने सबसे बड़े नेताओं में एक को खो दिया। मेरे लिए जब भी कोई निजी मुद्दा आया तो वे मेरे साथ खड़े रहे, मुझे ताकत देते रहे। उन्होंने कई भाजपा कार्यकर्ताओं की जिंदगियों में अपनी भूमिका बखूबी निभाई।
 
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी दिवंगत नेता के परिवार के साथ घंटों बिताए। वे जेटली के आवास के गेट पर शोकाकुल लोगों के आने और जाने के दौरान खड़े रहे और काफी दु:खी दिखे। वे वरिष्ठ नेता के देहांत के बाद अस्पताल में कई घंटे तक रहे। जब जेटली के पार्थिव शरीर को उनके घर ले जाया गया तो वे एम्बुलेंस में मौजूद थे।
 
स्वास्थ्य मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तरफ से जेटली के पार्थिव शरीर पर पुष्पांजलि भी अर्पित की। भाजपा में जेटली से करीबी तौर पर जुड़े रहे उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू चेन्नई से लौटे और जेटली को श्रद्धांजलि देने के लिए सीधे उनके आवास पर गए।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बहरीन में पीएम मोदी ने जेटली को किया याद, कहा- मेरा दोस्त चला गया