Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बारिश से बदहाल बेंगलुरु, लोग भड़के, कहा- पूरा शहर वाटर पार्क बन गया, धन्यवाद महानगर पालिका...

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 6 सितम्बर 2022 (11:08 IST)
बेंगलुरु। बेंगलुरु में भारी बारिश की वजह से सड़कें लबालब है। यहां तक कि IT प्रोफेश्नल्स को भी दफ्‍तर पहुंचने के लिए ट्रेक्टर का सहारा लेना पड़ा। बेंगलुरु में भारी बारिश की तस्वीरे सोशल मीडिया पर वायरल हो गई और बवाल मच गया। उल्लेखनीय है ‍कि मौसम विभाग ने मंगलवार को केरल, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में 8 और 9 सितंबर तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। 
देश के सूचना प्रौद्योगिकी हब में बीती रात हुई बारिश की वजह से जगह-जगह पर जलभराव हो गया जिस पर ट्विटर पर लोगों ने कटाक्ष करते हुए निकाय प्रशासन को आड़े हाथों लिया। कुछ लोगों ने कहा कि बेंगलुरु अब वेनिस बन गया है तो कुछ ने कहा कि बस टैैैैक्स भरते रहिए।
 
अनिर्बान सान्याल नामक एक ट्विटर यूजर ने शहर के हवाई अड्डे का चित्र साझा किया जहां वर्षा का पानी भरा हुआ था। सान्याल ने कहा, 'बेंगलुरु हवाई अड्डे की यह स्थिति है। भारत में मूलभूत ढांचे की हालत देखकर मुझे रोना आता है। यह शर्मनाक है।'
 
एक अन्य ट्वीट में कहा गया, 'जलक्रीड़ा पार्क वंडर ला किसे चाहिए जब पूरा बेंगलुरु ही वाटर पार्क बन गया है। धन्यवाद, बृहत् बेंगलुरु महानगर पालिका। एक शहर को जलमग्न करने में बहुत मेहनत करनी पड़ती है।' एक यूजर ने कहा कि बेंगलुरु में नौकरी के लिए कोडिंग ही नहीं स्विमिंग भी आनी चाहिए।
 
एक यूजर ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर 40 प्रतिशत कमीशन के आरोप को लेकर कटाक्ष किया। उपयोगकर्ता ने जलमग्न सड़कों पर चलते वाहनों की तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा, 'जब ठेकेदारों को परियोजना की लागत का 40 प्रतिशत मंत्रियों और अधिकारियों को रिश्वत के तौर पर देना पड़े तब आपको यही मिलता है।'

एक ट्वीट में बेंगलुरु बारिश पर तंज कसते हुए कहा गया कि इस वजह से भी बेंगलुरु को इनोवेशन हब कहा जाता है।
 
सूचना प्रौद्योगिकी उद्यमी टीवी मोहनदास पई ने ट्विटर पर एक वीडियो अपलोड किया जिसका शीर्षक था 'कृपया बेंगलुरु की हालत देखिये।' वीडियो में एक व्यक्ति भगवान गणेश का वेश धारण किये हुए था और घुटने तक पानी में चल रहा था तथा उसके पीछे यातायात रेंगते हुए चल रहा था।
 
इस ट्वीट पर कई लोगों ने शहर में अवसंरचना की कमी पर प्रशासन को लताड़ते हुए प्रतिक्रिया दी। एक यूजर राजीव भूषण सहाय ने जलजमाव और शहर की बदहाली के लिए अवैध रूप से बनी इमारतों और पेड़ काटने को जिम्मेदार बताया। (इनपुट : भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

भूकंप से दहला चीन, 65 लोगों की मौत