विधायक मंडावी के काफिले पर हमले में करीब 100 नक्सली शामिल

बुधवार, 10 अप्रैल 2019 (17:47 IST)
रायपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में नक्सली हमले में भाजपा विधायक की मौत की घटना में लगभग सौ नक्सलियों के शामिल होने की सूचना मिली है। पुलिस ने घटनास्थल से बारूदी सुरंग का स्थान बताने वाला एक जीपीएस भी बरामद किया है।
 
राज्य के दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों ने मंगलवार को भाजपा के विधायक भीमा मंडावी और उनके 4 सुरक्षाकर्मियों की हत्या बारूदी सुरंग में विस्फोट में कर दी थी। मंडावी दंतेवाड़ा क्षेत्र के ही विधायक थे।
 
दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने बुधवार को बताया कि इस घटना के दौरान नक्सली कमांडर विनोद और देवा के नेतृत्व में लगभग 100 की संख्या में नक्सलवादी मौजूद थे। इनमें से लगभग 60 हथियारबंद थे।
 
पल्लव ने बताया कि इस क्षेत्र में माओवादियों की मलांगिर एरिया कमेटी सक्रिय है। इस एरिया कमेटी के साथ इस घटना में केरलापाल एरिया कमेटी और जगरगुंडा एरिया कमेटी के नक्सली भी शामिल थे। उन्होंने बताया कि घटना के बाद नौ एमएम पिस्टल और दो राइफल गायब हैं। संभवत: नक्सली उसे अपने साथ ले गए हैं।
 
पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभी तक मिली जानकारी के अनुसार नक्सलियों ने इस घटना को योजना बनाकर अंजाम दिया है क्योंकि कम समय में बड़ी संख्या में हथियारबंद नक्सली एकत्र नहीं हो सकते हैं। शायद विधायक मंडावी को नक्सलियों ने अपने बुने हुए जाल में फंसाया और उनकी हत्या की।
 
उन्होंने बताया कि क्षेत्र में मंगलवार को मंडावी का तीसरा चुनावी दौरा था। इससे पहले इस मार्ग को डीआरजी के जवानों ने पांच दिनों में दो बार सुरक्षित किया था। इससे इस बात की आंशका है कि नक्सलियों ने एक दिन में ही यहां बम को लगाया था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस मंडावी के कॉल डिटेल की जांच कर रही है।
 
विधायक का मोबाइल फोन भी गायब है। शायद नक्सली उसे अपने साथ ले गए हैं। पल्लव ने बताया कि मंगलवार को घटना के दिन विधायक मंडावी को अतिरिक्त सुरक्षा दी गई थी।
 
नक्सली शिविर ध्वस्त : छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित राजनांदगांव जिले में मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों ने नक्सली शिविर को ध्वस्त कर दिया तथा वहां भारी मात्रा में सामान बरामद किया। इस घटना में किसी के भी हताहत होने की सूचना नहीं है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले के मानपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत महाराष्ट्र सीमा से लगे बुकमरका पहाड़ी में पुलिस दल ने नक्सली शिविर को ध्वस्त कर दिया है।
 
दल जब बुकमरका की पहाड़ी में था तब नक्सलियों ने पुलिस दल पर गोलीबारी की तथा तीन बारूदी सुरंग में विस्फोट किया। उसके बाद पुलिस दल ने भी जवाबी कार्रवाई शुरू की। दोनों ओर से गोलीबारी के बाद नक्सली वहां से महाराष्ट्र के गढ़चिरौली सीमा की ओर भाग गए। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित राजनांदगांव सीट के लिए इस महीने की 18 तारीख को मतदान होगा। क्षेत्र में नक्सल प्रभाव को देखते हुए सुरक्षा बलों को सतर्क कर दिया गया है तथा क्षेत्र पुलिस दल लगातार अभियान पर है।
 
भाजपा नेताओं ने किया प्रोफाइल पिक्चर काला : छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में नक्सली हमले में अपने विधायक की मृत्यु के बाद भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने सोशल मीडिया में प्रोफाइल पिक्चर को काला कर विरोध और नराजगी जताई है। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक और अन्य पूर्व मंत्रियों ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट में प्रोफाइल पिक्चर को काला कर लिया है। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख वोटरों को लुभाने के लिए मंत्रीजी ने किया नागिन डांस, वायरल हुआ वीडियो