बिहार और असम में बाढ़ से 94 लोगों की मौत, 1 करोड़ से ज्यादा आबादी प्रभावित

बुधवार, 17 जुलाई 2019 (23:59 IST)
पटना/ गुवाहाटी। बिहार के 12 जिलों में आई बाढ़ से अब तक 67 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 46 लाख 83 हजार से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। असम में भी बाढ़ के गंभीर हालात बने हुए हैं। यहां पर 27 लोगों की मौत के अलावा 57 लाख लोग प्रचंड पानी से परेशान हैं।
 
आपदा प्रबंधन विभाग से बुधवार को प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार के 12 जिलों- शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, दरभंगा, सहरसा, सुपौल, किशनगंज, अररिया, पूर्णिया एवं कटिहार में अब तक 67 लोगों की मौत हुई है जबकि 46 लाख 83 हजार से अधिक की आबादी प्रभावित हुई है।
 
बिहार में बाढ़ से हुई 67 मौतों में सीतामढ़ी में 17, अररिया में 12, मधुबनी में 11, शिवहर में 9, पूर्णिया में 7, दरभंगा में 5, किशनगंज में 4 और सुपौल में 2 लोगों की मौत हुई है।
 
बाढ़ प्रभावित 12 जिलों में कुल 137 राहत शिविर चलाए जा रहे हैं, जहां 1,14,721 लोग शरण लिए हुए हैं। उनके भोजन की व्यवस्था के लिए 1,116 सामुदायिक रसोई चलाई जा रही है। राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 26 टीमें लगाई गई हैं और 125 मोटरबोटों का इस्तेमाल किया जा रहा है।
इस बीच बिहार विधान परिषद परिसर में बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए राजद के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से राज्य में बाढ़ को 'राष्ट्रीय आपदा' घोषित करने का आग्रह किया।
 
भाकपा (माले) ने प्रदेश की नीतीश कुमार सरकार पर युद्धस्तर पर राहत और पुनर्वास करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि इसके परिणामस्वरूप प्रभावित क्षेत्रों में या तो लोग मर रहे हैं अथवा असुरक्षित जीवन जीने के लिए मजबूर हैं।
 
भाकपा (माले) ने बुधवार को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि उसकी पार्टी के विधायक महबूब आलम, सत्यदेव राम और सुदामा प्रसाद बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा कर रहे हैं तथा पार्टी ने अपने कैडरों से प्राकृतिक आपदा की चपेट में आने वाले स्थानों पर 18 से 24 जुलाई तक बाढ़ राहत अभियान जाने की अपील की है।
केंद्रीय जल आयोग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार की कई नदियां गंडक, बूढ़ी गंडक, बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान, कोसी, महानंदा और परमान नदी विभिन्न स्थानों पर बुधवार को सुबह खतरे के निशान से ऊपर बह रही थी।
 
भारत मौसम विभाग के अनुसार बिहार की सभी नदियों के जलग्रहण क्षेत्रों में गुरुवार की सुबह तक हल्की बारिश की संभावना जताई गई है।
 
असम में बाढ़ का कहर जारी, मृतकों की संख्या बढ़कर 27 हुई : गुवाहाटी से मिले समाचार के अनुसार असम में बुधवार को भी बाढ़ का कहर जारी रहा। राज्य के 29 जिलों में हालात जस के तस बने हुए हैं। बाढ़ से अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है और 57 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।
असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में 1 गेंडे की मौत हो गई जबकि ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियां गुवाहाटी समेत कई इलाकों में खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।
 
एएसडीएमए ने कहा है कि हैलाकांडी में जलस्तर कम हुआ है लेकिन अब भी राज्य में 57.51 लाख लोग प्रभावित हैं। प्राधिकरण के अनुसार मोरीगांव में 4, सोनितपुर और उदालगिरी में 2-2 जबकि कामरूप (महानगर) और नौगांव जिलों में 1-1 व्यक्ति की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 27 हो गई है।
 
एएसडीएमए ने कहा कि 1.50 लाख से अधिक विस्थापित लोग 427 राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं। विभिन्न जिला प्रशासनों ने 392 राहत वितरण केंद्र बनाए हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में श्रावण मास की पहली भस्‍म आरती, 1,000 से अधिक श्रद्धालु शामिल हुए