मोदी सरकार का फरमान, हटेगा अखिलेश यादव का 22 'ब्लैक कैट' कमांडो का सुरक्षा कवच

मंगलवार, 23 जुलाई 2019 (09:53 IST)
नई दिल्ली। केंद्र सरकार राजनेताओं की सुरक्षा की समीक्षा कर रही है। समीक्षा के बाद उनकी सिक्योरिटी को घटाया बढ़ाया जाएगा। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को दिया गया जेड प्लस श्रेणी का ‘ब्लैक कैट’ सुरक्षा कवच केंद्र सरकार द्वारा वापस लिया जाएगा। हालांकि उनके पिता सपा के क्षत्रप मुलायम सिंह यादव का एनएसजी ‘ब्लैक कैट’ सुरक्षा कवच पहले की तरह बरकरार रहेगा।
 
खबरों के अनुसार केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) के तहत सुरक्षा प्राप्त वीआईपी लोगों की सुरक्षा की व्यापक समीक्षा गृह मंत्रालय द्वारा की गई। इसके बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष को उपलब्ध कराया गया विशिष्ट राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) कवर वापस लेने का फैसला किया गया।
 
हालांकि इस बात की जानकारी नहीं मिली है कि अखिलेश को किसी दूसरी केंद्रीय सुरक्षा एजेंसी की सेवा मुहैया कराई जाएगी या उनका केंद्रीय सुरक्षा कवच पूरा हटा लिया गया है। 
 
संप्रग सरकार के दौरान अखिलेश यादव को सर्वोच्च वीआईपी श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई गई थी। अत्याधुनिक हथियारों से लैस 22 एनएसजी कमांडो का एक दल सुरक्षा कवच के तौर पर अखिलेश के साथ तैनात रहता था।  
 
खबरों के अनुसार केंद्र और उत्तरप्रदेश की खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के आधार पर गृह मंत्रालय ने खतरे के आकलन के आधार पर यह फैसला किया। उन्होंने कहा कि कम से कम दो दर्जन अन्य वीआईपी लोगों की सुरक्षा या तो वापस ली जाएगी या घटाई जाएगी। अधिकारी ने कहा कि आधिकारिक आदेश जल्द ही जारी होगा।
 
लोकसभा चुनाव में मनमाफिक नतीजे न आने के बाद अखिलेश यादव अपने संगठन को मजबूत करने में जुटे हैं और कहा जा रहा है कि इसके लिए वो संगठन को फिर से कसने की कवायद शुरू कर चुके हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख कश्मीर मुद्दे पर डोनाल्ड ट्रंप के झूठ पर झुका अमेरिका, भारत की आपत्ति के बाद बताया द्‍विपक्षीय मुद्दा