Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

25 रुपए महंगा हुआ रसोई गैस सिलेंडर, 21 दिन में 3 बार बढ़े दाम

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
गुरुवार, 25 फ़रवरी 2021 (16:05 IST)
नई दिल्ली। रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में फरवरी में तीसरी बार वृद्धि की गई है। सभी श्रेणियों के एलपीजी के दाम गुरुवार को 25 रुपए प्रति सिलेंडर और बढ़ गए हैं। इसमें सब्सिडी वाला सिलेंडर, उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों द्वारा इस्तेमाल में लाया जाने वाला सिलेंडर भी शामिल है।
 
कोरोना महामारी का कहर काबू में होने के बाद मांग में सुधार के बीच अंतरराष्ट्रीय बाजार में एलपीजी के दाम बढ़े हैं। यही वजह है कि इस महीने रसोई गैस सिलेंडर के दाम तीसरी बार बढ़ाए गए हैं।
 
सार्वजनिक क्षेत्र की ईंधन कंपनियों की मूल्य अधिसूचना के अनुसार दिल्ली में अब 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर का दाम 794 रुपए हो गया है। अभी तक इसके दाम 769 रुपए थे।
 
खास बात यह है कि सब्सिडी और बिना-सब्सिडी वाले यानी दोनों सिलेंडरों के दाम बढ़ाए गए हैं। देशभर में एलपीजी का दाम एक ही होता है। सरकार कुछ चुनिंदा ग्राहकों को इसपर सब्सिडी प्रदान करती है।
 
हालांकि, पिछले कुछ साल के दौरान महानगरों और बड़े शहरों में कीमतों में लगातार वृद्धि के बाद सब्सिडी समाप्त हो गई है। दिल्ली में उपभोक्ताओं को एलपीजी पर कोई सब्सिडी नहीं मिलती। सभी उपभोक्ताओं के लिए अब रसोई गैस सिलेंडर का दाम 794 रुपये हो गया है।
 
पेट्रोलियम कंपनी के एक अधिकारी ने बताया कि दूरदराज के क्षेत्रों के उपभोक्ताओं को रसोई गैस सिलेंडर पर कुछ सब्सिडी दी जाती है। ढुलाई भाड़े की भरपाई करने के लिए यह सब्सिडी दी जाती है। इससे पहले चार फरवरी को एलपीजी के दाम 25 रुपए प्रति सिलेंडर और 15 फरवरी को 50 रुपए प्रति सिलेंडर बढ़ाए गए थे।
 
दिसंबर से रसोई गैस सिलेंडर लगातार महंगा हो रहा है। इस अवधि में इसकी कीमतों में 150 रुपये की बढ़ोतरी हुई है।
 
हालांकि, बृहस्पतिवार को लगातार दूसरे दिन पेट्रोल और डीजल कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ। दिल्ली में पेट्रोल 90.93 रुपये प्रति लीटर और डीजल 81.32 रुपये प्रति लीटर है। (भाषा) 

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
पिछले 2 साल में नक्सली हिंसा में 54 जवान शहीद, 120 नक्सली मारे गए