Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

जून अंत में आएगी कोरोना की चौथी लहर, अक्टूबर तक रह सकता है असर

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 26 अप्रैल 2022 (18:47 IST)
नई दिल्ली/बेंगलुरू। कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने मंगलवार को कहा कि विशेषज्ञों ने अनुमान जताया है कि कोविड-19 (Covid-19) की चौथी लहर जून के बाद चरम पर पहुंच सकती है और इसका असर अक्टूबर तक रहेगा। उन्होंने टीकाकरण और मास्क पहनने जैसी एहतियात बरतते हुए वायरस के साथ जीने की आदत डालने पर जोर दिया।
 
मंत्री ने कहा कि वायरस के प्रचलित रूपों को ओमिक्रोन का सब-वैरिएंट कहा जाता है और इस संबंध में एक आधिकारिक रिपोर्ट कुछ दिनों में आने की संभावना है।
 
सुधाकर ने कहा कि आईआईटी कानपुर डेटा और रिपोर्ट साझा कर रहा है। उनके द्वारा साझा की गई एक रिपोर्ट के अनुसार यह (चौथी लहर) जून के अंत से शुरू होने की संभावना है, लेकिन चीजें एक महीने पहले शुरू हो गई हैं। उनके अनुसार जून के बाद इसके चरम पर होने की आशंका है, जिसका असर सितंबर और अक्टूबर तक रह सकता है।
 
मंत्री ने कहा कि पिछली तीन लहरों के बारे में उनके द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट काफी हद तक सटीक थी और वर्तमान रिपोर्ट भी वैज्ञानिक आंकड़ों पर आधारित है और सटीक हो सकती है।
 
मुख्‍यमंत्रियों से चर्चा करेंगे पीएम : देश में एक बार फिर कोविड-19 संक्रमण के मामलों में हो रही वृद्धि के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को दोपहर 12 बजे वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से संवाद करेंगे। इस संवाद के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण कोविड-19 की स्थिति पर एक प्रस्तुति भी देंगे। 
 
प्रधानमंत्री ने देश में एक बार फिर से बढ़ते कोविड-19 संक्रमण के मामलों के मद्देनजर रविवार को देशवासियों से सतर्क रहने और मास्क पहनने, उचित दूरी का पालन करने और लगातार हाथ धोने जैसे बचाव के सभी उपायों का पालन करने का आग्रह किया।

‘मन की बात’ की ताजा कड़ी में प्रधानमंत्री ने कहा था कि आने वाले दिनों में ईद, अक्षय तृतीया (भगवान परशुराम) की जयंती और वैशाख बुद्ध पूर्णिमा का त्योहार मनाया जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि इन पर्वों को खूब उल्लास और सौहार्द के साथ मनाइए, लेकिन इन सबके बीच सभी को कोरोना से भी सतर्क रहना है।
 
एक दिन में 2400 से ज्यादा मामले : मंगलवार को एक दिन में देश में कोविड-19 के 2 हजार 483 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही देश में कोरोना वायरस से अब तक संक्रमित हो चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 4,30,62,569 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 15,636 रह गई है।
 
दिल्ली में सबसे ज्यादा : दिल्ली में सबसे ज्यादा 1011 नए मामले सामने आए, जबकि एक व्यक्ति की मौत हो गई। हरियाणा में 470, केरल में 290, यूपी में 210, मिजोरम में 102, महाराष्ट्र में 84 और तमिलनाडु में 55 नए मामले सामने आए। दूसरी ओर, IIT मद्रास में 32 और विद्यार्थी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। यहां संक्रमित छात्रों की कुल संख्या 111 हो गई है।
 
अलर्ट पर योगी सरकार : यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर जांच का दायरा बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि हर दिन न्यूनतम डेढ़ लाख नमूनों की जांच की जाए। प्रदेश सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने उच्च स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान कहा कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के जिलों में कोविड के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है, ऐसे में जरूरी है कि जांच को और बढ़ाया जाए।
उन्होंने कहा कि ज्यादातर लोगों को घर में ही पृथक रहने की आवश्यकता पड़ रही है, इसलिए उन्हें पृथक-वास प्रोटोकॉल की पूरी जानकारी दी जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों को पहली खुराक के बाद अब पात्रता के अनुसार दूसरी खुराक भी दी जाए तथा 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को बूस्टर खुराक लगाए जाने में तेजी लाई जाए।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

इंदौर में 28 अप्रैल से शुरू होगा 3 दिवसीय 'मध्य प्रदेश ऑटो शो 2022'