कोरोना वायरस की भारत में दस्तक, केरल में मिला पॉजिटिव मरीज, जानिए लक्षण

गुरुवार, 30 जनवरी 2020 (14:42 IST)
चीन सहित दुनिया के अन्य देशों में कहर मचा रहे 2019-एनसीओवी कोरोना वायरस ने भारत में भी दस्तक दे दी है। केरल में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया है। इसकी आधिकारिक पुष्टि भी की गई है। खबरों के अनुसार केरल का जो मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित हुआ है, वह चीन के वुहान यूनिवर्सिटी का स्टूडेंट है। मरीज को गहन निगरानी में रखा जा रहा है।
ALSO READ: कोरोना वायरस : जिसकी फ़िलहाल कोई दवा नहीं, एहतियात ही बचाव है
चीन में कोरोना वायरस से अब तक करीब 170 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 7,000 से ज्यादा लोग इसकी चपेट में हैं। खबरों के अनुसार केरल में ऐसे 806 लोगों को निगरानी में रखा गया है, जो कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं।
 
देश की 2 विमानन कंपनियों इंडिगो और एयर इंडिया ने उस देश के लिए अपनी अधिकतर उड़ानें निलंबित करने की घोषणा की, जो कोरोना वायरस प्रकोप से जूझ रहा है। हालांकि भारत ने हुबेई प्रांत से अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए चीन से 2 उड़ानें संचालित करने की अनुमति देने का अनुरोध किया है।
 
कोरोना वायरस के लक्षण : कोरोना वायरस जानवरों और इंसान दोनों को संक्रमित कर सकता है। कोरोना वायरस सांस संबंधी इंफेक्शन से जुड़ा हुआ है। नाक का बहना, खांसी, गले में खराश और बुखार जैसे लक्षण इसमें शामिल हैं। अधिकांश मामलों में आप नहीं जान सकते हैं कि आपको सामान्य बुखार है या फिर कोरोना वायरस? इसके लिए लैब टेस्ट कराना जरूरी होता है।
 
निमोनिया, फेफड़ों में सूजन, छींक आना, अस्थमा का बिगड़ना भी इसके लक्षण हैं। इसमें नाक और गले का टेस्ट और ब्लड टेस्ट होंगे। अगर कोरोना वायरस इंफेक्शन आपके सांस की नली और फेफड़ों तक पहुंच गया है तो यह निमोनिया का कारण बन सकता है। खासकर बूढ़े और दिल के मरीजों को इसमें विशेष सावधानी रखना होगी। 
 
ये करें बचाव : इससे बचने के लिए किसी बीमार, जुकाम, निमोनिया से ग्रसित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचें। मास्क पहनें। अपनी आंखों, नाक और मुंह को न छुएं। हाथों को बार-बार अच्छे से साबुन से धोएं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख 'ये लो आजादी' बोलकर चला दी गोली, जामिया में CAA का विरोध कर रहे लोगों पर तानी पिस्तौल...