24 फरवरी को साबरमती आश्रम जाएंगे डोनाल्ड ट्रंप, मिलेगा यह खास तोहफा

मंगलवार, 18 फ़रवरी 2020 (20:47 IST)
अहमदाबाद। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को 24 फरवरी को यहां साबरमती आश्रम के दौरे के समय एक चरखा, महात्मा गांधी के जीवन पर आधारित दो पुस्तकें और उनका एक चित्र उपहार स्वरूप दिया जाएगा। साबरमती नदी के किनारे स्थित आश्रम में ट्रंप के दौरे में उनके साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रहेंगे। ट्रंप आश्रम का दौरा करने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति होंगे।
 
गांधी आश्रम के नाम से प्रसिद्ध यह स्थान स्वतंत्रता आंदोलन के समय 1917 से 1930 तक गांधीजी का आवास रहा था। अब इसका प्रबंधन साबरमती आश्रम संरक्षण और स्मारक ट्रस्ट देखता है।
 
आश्रम के न्यासी कार्तिकेय साराभाई और अमृत मोदी ने बताया कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप, उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी आश्रम में करीब आधा घंटा बिताएंगे।
 
सूत्रों ने बताया कि ट्रंप और मेलानिया हृदय कुंज के पास रखा चरखा भी चला सकते हैं। हृदय कुंज आश्रम में स्थित एक कुटिया है जहां गांधीजी अपनी पत्नी कस्तूरबा के साथ रहते थे।
 
अमृत मोदी ने कहा, 'हम ट्रंप को चरखा, गांधीजी की आत्मकथा और एक पुस्तक ‘माई लाइफ माई मैसेज’ भेंट करेंगे। यह पुस्तक गांधीजी के संपूर्ण जीवन को दर्शाने वाली है।'
 
उन्होंने कहा, 'आश्रम ट्रंप को गांधीजी का पोट्रेट भी उपहार में देगा। हम उन्हें चरखे के साथ एक नोट देंगे जिसमें देश के स्वतंत्रता संघर्ष में इसके महत्व का वर्णन होगा।'
 
ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी एक रोड शो में भी शामिल होंगे जो अहमदाबाद हवाईअड्डे से शुरू होगा और आश्रम से गुजरते हुए मोटेरा में क्रिकेट स्टेडियम में समाप्त होगा। आश्रम के पीछे की तरफ एक मंच तैयार किया जा रहा है ताकि प्रधानमंत्री मोदी मेहमानों को एक ही स्थान से पूरा साबरमती रिवरफ्रंट दिखा सकें।
 
रोड शो के 22 किलोमीटर लंबे मार्ग पर ट्रंप और मोदी का स्वागत करते हुए बड़े होर्डिंग लगाये गये हैं। अधिकारियों का अनुमान है कि दोनों नेताओं का अभिनंदन करने के लिए पूरे रास्ते में सड़क के दोनों ओर एक लाख से अधिक लोग खड़े हो सकते हैं।
 
रोड शो के बाद दोनों नेताओं का मोटेरा में नवनिर्मित स्टेडियम का उद्घाटन का कार्यक्रम है जहां ‘नमस्ते ट्रंप’ नामक कार्यक्रम में करीब एक लाख लोग शामिल हो सकते हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख मैं तो शिवराज से भी नाराज नहीं होता सिंधिया पर क्यों होऊंगा : कमलनाथ