Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कृषि कानून के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में पहली याचिका

webdunia
सोमवार, 28 सितम्बर 2020 (15:20 IST)
नई दिल्ली। कृषि विधेयकों (Agriculture Bill) पर देशभर में किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को संसद से पास कराए गए 3 कृषि विधेयकों पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। इसके बाद ये अब कानून बन चुके हैं। इसी को लेकर दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के किसान सड़कों पर उतर आए हैं। कृषि विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शन पंजाब-हरियाणा के बाद अब दिल्ली पहुंच गया है। खबरों के अनुसार संसद से करीब 500 मीटर दूर इंडिया गेट के समीप ट्रैक्‍टर में आग लगा दी गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है। किसान प्रदर्शन से जुड़ा हर अपडेट-
 
 

03:44 PM, 28th Sep
कर्नाटक में एपीएमसी और भूमि सुधार कानून में संशोधन को लेकर सोमवार को अनेक किसान संगठनों ने विरोध प्रदर्शन किया जबकि कई सामाजिक और राजनीतिक संगठनों ने प्रदर्शनकारियों का समर्थन किया। ये प्रदर्शन ‘कर्नाटक भूमि सुधार कानून’ और ‘कृषि उपज विपणन समिति अधिनियम’ के दो महत्वपूर्ण संशोधनों के खिलाफ किए जा रहे हैं, जो विपक्षी दलों, मुख्य रूप से कांग्रेस और जद (एस) की कड़ी आपत्तियों के बावजूद कर्नाटक विधानसभा में पारित किए गए। केएलआर अधिनियम में संशोधन के जरिये कृषि भूमि खरीदने पर प्रतिबंध हटा दिए गए हैं और अब कोई भी व्यक्ति इसे खरीद सकता है। इससे पहले के कानून में केवल किसानों को राज्य में कृषि भूमि खरीदने की अनुमति दी गई थी। एक संशोधन के माध्यम से एपीएमसी अधिनियम में कुछ प्रावधानों को निरस्त करने से निजी कंपनियों को किसानों से सीधे कृषि उपज खरीदने की अनुमति मिल गई है, जिस पर पहले रोक लगी हुई थी। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि ये कानून कृषि क्षेत्र को बर्बाद कर देंगे क्योंकि धनी लोग अपने काले धन को सफेद में बदलने और कृषि भूमि को रियल एस्टेट व्यवसाय में बदलने के लिए कृषि भूमि खरीदेंगे। किसानों ने आरोप लगाया कि एपीएमसी अधिनियम में संशोधन उन्हें न्यूनतम समर्थन मूल्य से वंचित करेगा और बहुराष्ट्रीय कंपनियां और बड़े कॉर्पोरेट घराने सीधे अपनी मनमानी दरों पर उपज खरीदेंगे।

03:43 PM, 28th Sep
लखनऊ में प्रदर्शन करने के दौरान उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है। पार्टी के मीडिया संयोजक लल्लन कुमार ने बताया कि किसान विरोधी कानून के खिलाफ पूरे प्रदेश के पार्टी कार्यकर्ता प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष लल्लू के नेतृत्व में एकत्र हुए और प्रदर्शन किया। उन्होंने बताया कि कांग्रेस कार्यकर्ता और अध्यक्ष जब राजभवन की ओर बढ़ रहे थे तब सभी को गिरफ्तार कर पुलिस इको गार्डन ले गयी जहां उन्हें रखा गया है। लल्लन ने दावा किया कि प्रदेश के कई जिलों से ऐसी खबरे मिल रही है कि कांग्रेस के जो कार्यकर्ता इस विरोध प्रदर्शन में शामिल होने लखनऊ आ रहे थे उन्हें हिरासत में लकर यहां आने से रोक दिया गया है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नए कानून के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया और इसे वापस लेने की मांग की।

03:33 PM, 28th Sep
देश में विवाद का केंद्र बने कृषि कानून का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुका है। केरल के सांसद टीएन प्रथापन ने शीर्ष अदालत में याचिका दायर कर इन नए कानूनों को रद्द करने की मांग की है।

11:35 AM, 28th Sep
खबरों के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने टैक्टर में आग लगाने के मामले में पंजाब के रहने वाले 5 लोगों को हिरासत में लिया है। इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

09:37 AM, 28th Sep
खबरों के मुताबिक सोमवार सुबह दिल्ली में पंजाब यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने राजपथ के पास एक ट्रैक्टर में आग लगा दी। यह लोग ट्रैक्टर को इंडिया गेट के पास लाकर प्रदर्शन कर रहे थे। मौके पर दिल्ली पुलिस और फायर ब्रिगेड ने पहुंच कर आग पर काबू पाया। 

09:36 AM, 28th Sep
कृषि कानूनों के विरोध में कर्नाटक में आज किसानों ने फिर राज्य बंद बुलाया है।

09:36 AM, 28th Sep
आज देश के कई हिस्सों में बिल के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह किसानों के साथ धरने पर भी बैठेंगे।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

CoronaVirus Live Updates : महाराष्ट्र के ठाणे में कोविड-19 के मामले 1.70 लाख के पार हुए