Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

वैष्णो देवी भवन में लगी आग के बाद यात्रा रुकी, भैरो घाटी तक दिख रही थीं लपटें (फोटो)

webdunia
webdunia

सुरेश एस डुग्गर

मंगलवार, 8 जून 2021 (19:00 IST)
जम्मू। विश्व प्रसिद्ध माता वैष्णो देवी के भवन में मंगलवार दोपहर को लगी भयानक आग में कैश काउंटिग का कमरा जलकर राख हो गया। यात्रा को रोक दिया गया है। किसी भी श्रद्धालु को कोई चोट नहीं आई है। कालिका भवन के पास काउंटर नंबर दो के नजदीक आग ने तांडव मचाया। आग पर काबू पाने के लिए बड़े पैमाने पर बचाव कार्य चलाया गया।

उल्लेखनीय है कि जहां आग लगी उस स्थान से प्राकृतिक गुफा की दूरी तकरीबन 100 मीटर है। आग की लपटें भैरो घाटी तक दिखाई दीं। वीआईपी गेट के पास काउंटिंग रूम में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। आनन-फानन कर्मियों ने बचाव कार्य शुरू करने के साथ ही श्राइन बोर्ड के अधिकारियों को इसकी सूचना दी।
webdunia

माता वैष्णो देवी भवन स्थित कैश काउंटर में आग लगने की वजह का अभी तक पता नहीं चल पाया है। अलबत्ता आग पर काबू पाने के पूरे प्रयास जारी हैं। चूंकि भवन में ही फायर ब्रिगेड की पोस्ट भी है, इसलिए तुरंत वहां से आग लगने की घटना का पता चलते ही फायर ब्रिगेड के एक दर्जन के करीब जवान आग बुझाने में जुट गए। उनके साथ श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के कर्मचारियों सहित भवन में तैनात अन्य सुरक्षाबलों भी काफी सहयोग कर रहे हैं। भवन के कैश काउंटर में लगी की लपटें दूर-दूर से देखी जा रही हैं। फिलहाल यात्रा को बीच में ही रोक दिया गया है।
webdunia

इस साल 30 अप्रैल को भी माता वैष्णो देवी मार्ग पर स्थित चरण पादुका मंदिर क्षेत्र में शंभू मार्केट में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई थी। इसे बुझाने में फायर ब्रिगेड के जवानों को दो घंटों से अधिक का समय लगा था लेकिन तब तक 15 दुकानें जल चुकी थी।

चरण पादुका क्षेत्र में पहले भी दो बार भयंकर अग्निकांड हो चुके हैं। वर्ष 2009 में इसी क्षेत्र के पीपी मार्केट में भयंकर आग लग थी। इस अग्निकांड में 55 दुकानें जल गई थी। वर्ष 2012 में पीपी मार्केट में फिर आगजनी की घटना हुई। इसमें करीब 25 दुकानें जलकर राख हो गई थी।
webdunia

उल्लेखनीय है कि जहां आग लगी उस स्थान से प्राकृतिक गुफा की दूरी तकरीबन 100 मीटर है। आग की लपटें भैरो घाटी तक दिखाई दीं। वीआईपी गेट के पास काउंटिंग रूम में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। आनन-फानन कर्मियों ने बचाव कार्य शुरू करने के साथ ही श्राइन बोर्ड के अधिकारियों को इसकी सूचना दी।

माता वैष्णो देवी भवन स्थित कैश काउंटर में आग लगने की वजह का अभी तक पता नहीं चल पाया है। अलबत्ता आग पर काबू पाने के पूरे प्रयास जारी हैं। चूंकि भवन में ही फायर ब्रिगेड की पोस्ट भी है, इसलिए तुरंत वहां से आग लगने की घटना का पता चलते ही फायर ब्रिगेड के एक दर्जन के करीब जवान आग बुझाने में जुट गए। उनके साथ श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के कर्मचारियों सहित भवन में तैनात अन्य सुरक्षाबलों भी काफी सहयोग कर रहे हैं। भवन के कैश काउंटर में लगी की लपटें दूर-दूर से देखी जा रही हैं। फिलहाल यात्रा को बीच में ही रोक दिया गया है।

इस साल 30 अप्रैल को भी माता वैष्णो देवी मार्ग पर स्थित चरण पादुका मंदिर क्षेत्र में शंभू मार्केट में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई थी। इसे बुझाने में फायर ब्रिगेड के जवानों को दो घंटों से अधिक का समय लगा था लेकिन तब तक 15 दुकानें जल चुकी थी।

चरण पादुका क्षेत्र में पहले भी दो बार भयंकर अग्निकांड हो चुके हैं। वर्ष 2009 में इसी क्षेत्र के पीपी मार्केट में भयंकर आग लग थी। इस अग्निकांड में 55 दुकानें जल गई थी। वर्ष 2012 में पीपी मार्केट में फिर आगजनी की घटना हुई। इसमें करीब 25 दुकानें जलकर राख हो गई थी।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को मारा थप्पड़, 2 गिरफ्‍तार (वीडियो)