Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

हाथरस में युवती के साथ हैवानियत पर देशभर में फूटा गुस्सा, विराट कोहली और अक्षय कुमार ने की न्याय की मांग

webdunia
मंगलवार, 29 सितम्बर 2020 (21:51 IST)
नई दिल्ली/हाथरस। उत्तरप्रदेश के हाथरस जिले में बर्बर सामूहिक बलात्कार की शिकार हुई 19 साल की युवती की दिल्ली के अस्पताल में मंगलवार को मौत हो गई। घटना ने लोगों को झकझोर दिया है। हर जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं और लोग न्याय की मांग कर रहे हैं। राजनीति, खेल, फिल्म, जगत से लेकर अधिकार कार्यकर्ता और सामान्य लोग भी ट्विटर सहित तमाम मंचों पर अपना दुख और गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। युवती के लिए न्याय की मांग कर रहे हैं। बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार, फरहान अख्तर, रिचा चड्ढा सहित अन्य अभिनेताओं ने भी दोषियों के लिए ‘कठोर सजा’ की मांग की है। 
webdunia
कोहली ने बताया क्रूर से क्रूरतम : संयुक्त अरब अमीरात में आईपीएल खेल रहे क्रिकेटर विराट कोहली ने ट्वीट किया है कि  ‘हाथरस में जो हुआ, वह अमानवीय और क्रूरतम से भी क्रूर है। आशा करते हैं कि दोषियों को सजा मिलेगी।’ 
webdunia
अक्षय ने की फांसी की मांग : अक्षय कुमार ने ट्विटर पर लिखा है कि घटना से वह बहुत ‘क्षुब्ध और निराश हैं’। उन्होंने दोषियों को फांसी देने की मांग की है। उन्होंने ट्वीट किया है, ‘हाथरस सामूहिक बलात्कार में इतनी क्रूरता, बर्बरता .... । कब रुकेगा ये सब? हमारे कानून और उनका अनुपालन इतना कड़ा होना चाहिए कि सजा की सोचकर ही बलात्कार करने वालों की रूह कांप जाये। ऐसे दोषियों को फांसी पर लटका देना चाहिए। बेटियों और बहनों की सुरक्षा के लिए आवाज उठाएं। हम कम से कम इतना तो कर सकते हैं।’
 
निर्भया जैसी हैवानियत : हाथरस की घटना ने सभी को निर्भया कांड की भयावहता याद दिला दी है। करीब 8 साल पहले 16 दिसंबर, 2012 की रात दिल्ली की सड़कों पर चलती बस में फिजियोथेरेपी की छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार हुआ था और अपनी चोटों और अपने साथ हुई क्रूरता से लड़ते हुए उसने भी हाथरस की दलित युवती की तरह दम तोड़ दिया था। दोनों घटनाओं में समानता ने लोगों को स्तब्ध कर दिया है।
बलात्कार के बाद क्रूरता : 14 सितंबर को चार लोगों ने इस दलित युवती के साथ कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया। इस दौरान उसके साथ की गई क्रूरता के कारण पहले उसे अलीगढ़ के अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां हालत में सुधार नहीं होने पर उसे बेहद नाजुक हालत में, रीढ़ की हड्डी में चोट, पैरों और हाथों में लकवा और कटी हुई जीभ के साथ दिल्ली के अस्पताल में सोमवार को भर्ती कराया गया। हाथरस के पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर ने युवती के परिवार के हवाले से बताया कि वह सोमवार की रात भी नहीं काट सकी, और तड़के करीब तीन बजे उसकी सांसों की डोर टूट गयी।
ALSO READ: हाथरस की निर्भया : कितनी जुबान काटोगे?
चारों आरोपी गिरफ्तार : हाथरस के पुलिस अधीक्षक के अनुसार, घटना के चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और युवती की मौत के बाद उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी में धारा 302 (हत्या) भी जोड़ी जाएगी। घटना की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक ने बताया था कि 14 सितंबर को युवती अपनी मां के साथ खेतों में गयी थी और वहां से वह लापता हो गई। बाद में जब वह मिली तो उसके शरीर पर चोट, प्रताड़ना के निशान थे और उसकी जुबान कटी हुई थी। अधिकारी ने बताया कि आरोपियों ने उसका गला घोंटने का प्रयास किया था और उसी से बचने के क्रम में युवती ने अपनी जीभ काट ली थी।
 
हाथरस के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शुरुआत में पुलिस को सूचना मिली थी कि संदीप (20) ने 19 साल की युवती की हत्या का प्रयास किया है और उसे उसी दिन गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में मजिस्ट्रेट के समक्ष अपने बयान में युवती ने बताया कि संदीप के अलावा रामू, लवकुश और रवि ने भी उसके साथ बलात्कार किया और जब उसने विरोध किया तो उन्होंने उसका गला घोंटने की कोशिश की। इसी दौरान उसकी जीभ कट गई।
 
अस्पताल के बाहर प्रदर्शन : युवती की मौत की खबर मिलते ही सफदरजंग अस्पताल के बाहर, विजय चौक पर और हाथरस में प्रदर्शन शुरू हो गए। दिल्ली में सफदरजंग अस्पताल के बाहर प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे भीम आर्मी के प्रमुख चन्द्रशेखर आजाद ने कहा कि वह दलित समुदाय के प्रत्येक व्यक्ति से अनुरोध करते हैं कि वे सड़कों पर उतरें और दोषियों के लिए मौत की सजा की मांग करें।
 
आजाद ने कहा कि सरकार को हमारे धैर्य की परीक्षा नहीं लेनी चाहिए। दोषियों को फांसी मिलने तक हम चैन से नहीं बैठेंगे। आजाद ने राज्य सरकार को भी युवती की मौत के लिए ‘समान रूप से जिम्मेदार ठहराया।’
 
कांग्रेस बोली अपराध की राजधानी : उत्तरप्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए कांग्रेस ने इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा महिला मोर्चा की चुप्पी पर ‘सवाल उठाया’। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश देश में ‘अपराध की राजधानी’ बन गया है। पार्टी ने युवती के लिए न्याय की मांग करते हुए विजय चौक पर प्रदर्शन भी किया। पार्टी ने कहा कि उसके नेता पीएल पुनिया, उदित राज और अन्य को प्रदर्शन करने के कारण मंदिर मार्ग थाने में हिरासत में रखा गया है।
 
राहुल ने कहा जंगलराज : कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि उत्तरप्रदेश में ‘वर्ग-विशेष के जंगल-राज’ ने और एक युवती की जान ले ली है। राहुल ने ट्वीट किया है, ‘उत्तर प्रदेश के ‘वर्ग-विशेष’ जंगलराज ने एक और युवती को मार डाला। सरकार ने कहा कि ये फ़ेक न्यूज़ है और पीड़िता को मरने के लिए छोड़ दिया। ना तो ये दुर्भाग्यपूर्ण घटना फ़ेक थी, ना ही पीड़िता की मौत और ना ही सरकार की बेरहमी।’
webdunia
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया है, ‘हाथरस में हैवानियत झेलने वाली दलित बच्ची ने सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। दो हफ्ते तक वह अस्पतालों में जिंदगी और मौत से जूझती रही। हाथरस, शाहजहांपुर और गोरखपुर में एक के बाद एक रेप की घटनाओं ने राज्य को हिला दिया है।’
 
उन्होंने लिखा है- यूपी में कानून व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है। महिलाओं की सुरक्षा का नाम-ओ-निशान नहीं है। अपराधी खुले आम अपराध कर रहे हैं। इस बच्ची के क़ातिलों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उप्र की महिलाओं की सुरक्षा के प्रति आप जवाबदेह हैं।’’
 
मायावती ने ट्वीट किया है कि यूपी के हाथरस में गैंगरेप के बाद दलित पीड़िता की आज हुई मौत की खबर अति-दुःखद। सरकार पीड़ित परिवार की हर संभव सहायता करे व फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर अपराधियों को जल्द सजा सुनिश्चित करे, बीएसपी की यह माँग है।’ 
 
सपा अध्यक्ष यादव ने ट्वीट किया है कि हाथरस की गैंग रेप एवं दरिंदगी की शिकार एक बेबस दलित बेटी ने आख़िरकार दम तोड़ दिया। नम आँखों से पु्ष्पांजलि! आज की असंवेदनशील सत्ता से अब कोई उम्मीद नहीं बची।’ एक व्यंग्य कार्टून साझा करते हुए उन्होंने लिखा है, ‘प्रदेश में क़ानून-व्यवस्था पर हो रहे व्यंग्य-चित्रण वर्तमान सत्ता के दिखावटी शासन का भंडाफोड़ हैं। ये उप्र के बहन-बेटियों वाले परिवारों के लिए एक दुर्भाग्यपूर्ण शासनकाल है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दलित युवती की मौत को समाज, देश और सभी सरकारों के लिए शर्मनाक बताया।
 
आयोग ने यूपी पुलिस मांगी रिपोर्ट : राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने एक वीडियो जारी कर कहा कि आयोग ने इस मामले में उत्तरप्रदेश पुलिस से कार्रवाई रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा कि आयोग पीड़ित परिवार की हर संभव मदद करेगा। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

DC vs SRH IPL 2020 Score : सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को दिया 163 रनों का लक्ष्य