Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Weather Update: तमिलनाडु और पुडुचेरी में भारी बारिश की संभावना

webdunia
बुधवार, 10 नवंबर 2021 (08:24 IST)
नई दिल्ली। दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर एक चक्रवाती परिसंचरण बना हुआ है जिसके प्रभाव में दक्षिण अंडमान सागर और आसपास के क्षेत्रों में एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। यह एक अवसाद में तेज हो सकता है और पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में तमिलनाडु तट की ओर बढ़ेगा। एक ट्रफ रेखा दक्षिण-पूर्व बंगाल पर बने चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र से तमिलनाडु तट से दूर दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी तक फैली हुई है।
 
पिछले 24 घंटों के दौरान तमिलनाडु और केरल के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई और कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। दक्षिण आंतरिक कर्नाटक अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में छिटपुट हल्की से मध्यम बारिश हुई। लक्षद्वीप में हल्की बारिश हुई। अगले 24 घंटों के दौरान तमिलनाडु, केरल के कुछ हिस्सों, तटीय आंध्रप्रदेश और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।
 
स्काईमेट के अनुसार 10 से 11 नवंबर की रात तक तटीय तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश के दक्षिणी तट पर भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है। दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। लक्षद्वीप, तेलंगाना के कुछ हिस्सों और दक्षिण ओडिशा के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है। दिल्ली और एनसीआर में वायु प्रदूषण बहुत खराब श्रेणी में रहेगा।
 
तमिलनाडु, पुडुचेरी में भारी बारिश की संभावना : मौसम विभाग ने मंगलवार को कहा कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना निम्न दबाव का क्षेत्र जल्द ही दबाव में बदल सकता है और अगले कुछ दिनों में पूरे तमिलनाडु में भारी बारिश होने की संभावना है। चेन्नई और आसपास के जिलों जैसे चेंगलपेट में मंगलवार को बारिश में कमी आई लेकिन तमिलनाडु के नागापट्टिनम और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी के कराईकल जैसे क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी वर्षा हुई। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सुबह से शुरू होकर रात 9.30 बजे (9 नवंबर) तक कराईक्कल में लगभग 20 सेंटीमीटर और नागपट्टिनम में लगभग 15 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई और ऐसे क्षेत्रों में बारिश जारी रह सकती है।
 
चेन्नई और आसपास के उत्तरी क्षेत्रों में मंगलवार रात तक ज्यादातर हल्की से मध्यम बारिश हुई। हालांकि 6 नवंबर की रात से सोमवार तक भारी बारिश के चलते चेन्नई और उपनगरों में जल-जमाव हो गया। जल संसाधन मंत्री दुरईमुरुगन ने कहा कि बांधों से जल प्रवाह और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अतिरिक्त पानी छोड़ने के लिए कदम उठाए गए हैं।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

समीर वानखेड़े की साली ने दर्ज कराई शिकायत, नवाब मलिक थोड़ी देर में फोड़ेंगे 'हाइड्रोजन बम'