Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

भारत जोड़ो यात्रा : असम के सीएम ने राहुल को क्यों दी पाकिस्तान जाने की सलाह?

हमें फॉलो करें webdunia
बुधवार, 7 सितम्बर 2022 (13:11 IST)
नई दिल्ली। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को सदी की कॉमेडी बताते हुए असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा कि आज हम जिस भारत में रहते हैं, वह लचीला, मजबूत और एकजुट है। राहुल गांधी जी को भारत जोड़ो यात्रा के लिए पाकिस्तान जाना चाहिए अगर वे एकीकरण चाहते हैं।
 
मुख्यमंत्री सरमा ने ट्वीट कर कहा कि भारत जोड़ी यात्रा सदी की कॉमेडी है!  आज हम जिस भारत में रहते हैं, वह लचीला, मजबूत और एकजुट है। 1947 में ही भारत का विभाजन हुआ था क्योंकि कांग्रेस इसके लिए राजी हो गई थी। राहुल गांधी जी को भारत जोड़ो यात्रा के लिए पाकिस्तान जाना चाहिए अगर वे एकीकरण चाहते हैं।
 
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हिमंता बिस्वा सरमा पर पलटवार करते हुए कहा कि इस तरह के अवसरवादियों को गंभीरता से लेने की जरूरत नहीं है। 
 
गहलोत ने कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो’ यात्रा की शुरुआत से पहले संवाददाताओं से यह भी कहा कि देश में जाति और धर्म के नाम पर नफरत फैल गई है और इस स्थिति को नहीं संभाला गया तो देश गृहयुद्ध की तरफ जा सकता है। वह चाहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को सद्बुद्धि आए और वे हालात को समझ सकें।  
 
webdunia
उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी शाम को कन्याकुमारी के समुद्री तट के निकट एक जनसभा को संबोधित करेंगे और इसके साथ इस यात्रा की औपचारिक शुरुआत होगी। हालांकि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और 118 अन्य ‘भारत यात्री’ आठ सितंबर की सुबह विधिवत पदयात्रा आरंभ करेंगे। करीब 3,500 किलोमीटर लंबी भारत जोड़ो यात्रा 12 राज्यों से हो कर गुजरेगी।
 
राहुल जनसभा से पहले कन्याकुमारी के ‘गांधी मंडपम’ में एक प्रार्थना सभा में शामिल होंगे। फिर वह एक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे जहां तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन उन्हें राष्ट्र ध्वज सौंपेंगे। यात्रा शुरू करने से पहले राहुल कन्याकुमारी में विवेकानंद रॉक मेमोरियल, तिरुवल्लुवर स्टैच्यू और कामराज मेमोरियल भी जाएंगे।
 
पदयात्रा 11 सितंबर को केरल पहुंचेगी और अगले 18 दिनों तक राज्य से होते हुए 30 सितंबर को कर्नाटक पहुंचेगी। यात्रा कर्नाटक में 21 दिनों तक चलेगी और उसके बाद उत्तर की तरफ अन्य राज्यों में जाएगी।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

LG ने किया अरबों का भ्रष्टाचार, AAP सांसद संजय ने उपराज्यपाल का नोटिस फाड़ा