Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

हाईटेक हैदराबाद में बारिश से हालत बिगड़े, अगले 2 दिनों में भारी बारिश का अलर्ट

webdunia
बुधवार, 14 अक्टूबर 2020 (16:59 IST)
हैदराबाद। तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में हालात संभलने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस बीच, मौसम विभाग ने लोगों की नींद उड़ा दी है क्योंकि अगले 2 दिन भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।
 
हालांकि मुख्‍यमंत्री के. चंद्रशेखर राव हालात पर लगातार नजर बनाए हुए हैं। बारिश से हालात इतने खराब हो गए हैं कि कई हाईवे जाम हो गए हैं, जिसके लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हैदराबाद-विजयवाड़ा हाईवे पर भी बाढ़ का पानी आ गया है।
चारों ओर तबाही का मंजर : तेज बारिश से हैदराबाद में और तेलंगाना के कुछ अन्य इलाकों में तबाही के दृश्य साफ नजर आ रहे थे। जगह-जगह पेड़ उखड़ गए। अलग-अलग स्थानों पर सड़क और पुल बर्बाद हो गए। पुराने हैदराबाद में एक व्यक्ति देखते ही देखते बह गया। 
 
ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसीपल कॉर्पोरेशन (GHMC) ने लोगों से अगले तीन दिनों तक घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। जानकारी के मुताबिक अगले दो दिन और बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने भी अलर्ट जारी किया है। 
डेढ़ दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत : हैदराबाद के चंद्रायनगुट्टा इलाके में बारिश से बड़ा पत्थर घर पर गिरा जिसमें दबकर 15 लोगों की मौत हो गई है। राहत औऱ बचाव का काम चल रहा है। इब्राहिमपट्टनम इलाके में एक पुराने मकान की छत ढह जाने से 40 वर्षीय महिला और उसकी 15 वर्षीय बेटी की मौत हो गई।
 
अलग-अलग हादसों में अब तक 18 लोगों की मौत की खबर है। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (GHMC) आपदा प्रबंधन बल के जवानो ने स्थानीय लोगों और पुलिस की मदद से मलबे से शवों को निकाला है। 

गुरुवार को अवकाश : भारी बारिश के कारण सड़कों और निचले इलाकों में पानी भर गया है। अधिकारियों ने बताया कि भारी बारिश के कारण यहां कई स्थानों पर मकानों और दीवारों के ढहने की जानकारी मिली है। राज्य सरकार ने बारिश के मद्देनजर यहां बाहरी रिंग रोड पर सभी निजी संस्थानों, कार्यालयों, गैर आवश्यक सेवाओं के लिए बुधवार और बृहस्पतिवार को अवकाश घोषित कर दिया है।
 
नगरपालिका प्रशासन और शहरी विकास मंत्री के टी रामाराव और पशुपालन मंत्री तलसानी श्रीनिवास यादव ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक आपात बैठक की और शहर में राहत एवं बचाव अभियानों की समीक्षा की। पुलिस ने बताया कि बुधवार सुबह शमशाबाद के गगनपहाड़ इलाके में एक मकान ढहने के कारण एक बच्चे समेत एक परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई।
 
आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, मंगलवार सुबह साढ़े आठ से रात नौ बजे तक मेडचल मल्काजगिरि जिले के सिंगापुर टाउनशिप में 292.5 मिमी बारिश हुई और यदाद्री-भोंगीर जिले के वर्केल पाल्ले में 250.8 मिमी बारिश दर्ज की गई। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) के कई इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश हुई। जीएचएमसी में 98.9 मिमी औसत बारिश हुई।
 
33 यात्रियों को बचाया : पुलिस दलों और एनडीआरएफ एवं जीएचएमसी के आपदा कार्रवाई बल (डीआरएफ) कर्मियों ने उन स्थानों से कई परिवारों को बाहर निकाला, जहां पानी भर गया था। कई इलाकों में बचाव कार्य जारी है। पुलिस ने बताया कि यहां उप्पल में जलभराव के कारण एक सरकारी बस के फंस जाने के बाद कम से कम 33 यात्रियों को बचाया गया। भद्राद्री-कोट्‍ठागुडेम जिले में जलाशयों में जलस्तर बढ़ गया है और प्रशासन ने लोगों को जलाशयों के पास नहीं जाने की सलाह दी है।
 
जीएचएमसी आयुक्त डीएस लोकेश कुमार ने जर्जर इमारतों या झोंपड़ियों में रह रहे लोगों से परिसर खाली करने की अपील की है। उन्होंने बताया कि लोगों को सामुदायिक भवनों में अस्थायी निवास मुहैया कराया गया है। मौसम विज्ञान विभाग ने यहां बताया कि तेलंगाना में बुधवार को भी कहीं-कहीं गरज के साथ बौछारें पड़ने का अनुमान है। उसने बताया कि हैदराबाद समेत कुछ स्थानों पर बुधवार और गुरुवार को भारी एवं बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

CBI के अस्थायी कार्यालय में हाथरस पीड़िता के परिजनों से पूछताछ