पुलवामा हमले के बाद भारत ने हासिल की यह 3 बड़ी सफलताएं...

शुक्रवार, 1 मार्च 2019 (08:56 IST)
नई दिल्ली। 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में हुए आत्मघाती आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले के बाद देश मांग रहा था बदला। समूचे भारत में जन आक्रोश था। ऐसे में नरेंद्र मोदी सरकार के लिए बहुत बड़ी चुनौती खड़ी हो गई थी। हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि जो आग आपके भीतर है वह मेरे भीतर भी है। आतंकियों ने बहुत बड़ी गलती कर दी है। मैंने सेना को खुली छूट दे दी है। पीएम मोदी के इस बयान के बाद समूचा देश मोदी की ओर देख रहा था कि अब क्या होगा।
 
 
1. पहली बड़ी सफलता-
पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान ने भारत को चेतावनी के साथ बातचीत का न्योता दिया था लेकिन वह भी समझ रहा था कि भारत कोई कार्रवाई करने वाला है। हमले के ठीक तेरह दिन बाद जवाबी कार्रवाई करते हुए भारत ने पाकिस्तान के अंदर घुसकर एयर स्ट्राइक करते हुए जैश के आतंकी अड्डों को ध्वस्त कर दिया। भारत ने बालाकोट, मुजफ्फराबाद और चिकोथी में 1000 किलो के बम गिराकर जैश के ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया। इस एयर स्ट्राइक में आतंकी संगठन जैश के 25 टॉप कमांडर सहित 325 के लगभग आतंकवादियों को मार गिराया। इसमें अजरहर मसूद के दो भाई और एक साला भी शामिल था।
 
 
2.दूसरी बड़ी सफलता-
भारत की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने भी एयर स्ट्राइक की कोशिश की, लेकिन भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के विमानों को खदेड़ दिया और एक विमान एफ-16 को मार गिराया। इस दौरान हमारा मिग-21 भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया और विंग कमांडर अभिनंदन पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में सुरक्षित उतर गए। इसके बाद पाकिस्तान आर्मी ने उन्हें बंदी बना लिया।
 
 
3.तीसरी बड़ी सफलता-
गुरुवार 28 फरवरी को बंदी बनाए गए हमारे विंग कमांडर अभिनंदन को छुड़ाने के लिए भारत ने दो टूक कह दिया था कि उसे अपने पायलट की रिहाई से कम कुछ भी मंजूर नहीं। पाक की हिरासत से अभिनंदन को छुड़ाने के लिए सरकार और एजेंसियां चौतरफा कोशिश कर रही थीं। सूत्रों ने बताया कि विदेश मंत्रालय जहां दुनिया के देशों से इस मुद्दे पर संपर्क साथ कर जनमत तैयार कर रहा था। साथ ही मंत्रालय ने दो टूक कह दिया था कि वह अभिनंदन के लिए राजनयिक पहुंच नहीं मांगेगा। भारत ने साफ कर दिया कि उसे अभिनंदन की सुरक्षित वापसी से कम कुछ भी मंजूर नहीं है। पाकिस्तान को स्पष्ट संदेश दिया गया था कि अगर अभिनंदन को कुछ होता है या उनको यातना दी जाती है तो भारत किसी भी स्तर पर जाकर कार्रवाई कर सकता है। इसके साथ ही भारत सैन्य विकल्पों को भी मजबूत कर रहा था।
 
 
इस दबाव के बाद पाक संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि भारतीय पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान हमारी सेना के हिरासत में हैं। उन्होंने कहा कि शांति की पहल के तौर पर शुक्रवार को अभिनंदन को भारत भेज दिया जाएगा।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख रसोई गैस के दामों में हुई बढ़ोतरी, सब्सिडी और गैर सब्सिडी सिलेंडर हुए महंगे