370 हटने के बाद कश्मीर में खत्म होंगे टुकड़े-टुकड़े गैंग, पत्थरबाजों पर लगेगी लगाम

रक्षा विशेषज्ञ आदित्य विक्रम पेठिया से इंटरव्यू

विशेष प्रतिनिधि

सोमवार, 5 अगस्त 2019 (13:56 IST)
मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर के बारे में ऐतिहासिक फैसला लेते हुए धारा 370 को हटाने का संकल्प संसद में पेश कर दिया है। कश्मीर के बारे में इस ऐतिहासिक फैसले के बाद अब इस पर नई बहस छिड़ गई है।
 
वेबदुनिया ने मोदी सरकार के इस फैसले को लेकर कश्मीर मामलों के जानकार रिटायर्ड एयर मार्शल आदित्य विक्रम पेठिया से से बात की है। वेबदुनिया से बात में पेठिया कहते हैं कि मोदी सरकार के इस बड़े फैसले के बाद अब जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी और टुकड़े-टुकड़े गैंग पर लगाम लग जाएगी और वे खत्म हो जाएंगे।
 
वे कहते हैं कि कश्मीर में सुरक्षा बलों को लंबे समय से जिन पत्थरबाजों का सामना करना पड़ता था, उस पर पिछले पांच सालों में कमी आई थी और अब उस पर अब नकेल लग सकेगी।
पेठिया कहते हैं कि अगर संसद से जम्मू-कश्मीर को लेकर पेश किया गया विधेयक पास हो जाता है तो कश्मीर में एक नई सुबह हो जाएगी और घाटी में शांति हो जाएगी। वे कहते हैं कि जब पूरा देश एक है तो जम्मू-कश्मीर को अलग विशेष दर्जा क्यों है।
वे कहते हैं कि जम्मू-कश्मीर के भारत में विलय के बाद में धारा 370 को जोड़ा गया था और इसको जोड़ने के साथ ही इसके अस्थायी शब्द लगा हुआ है।
 
जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी और स्थानीय नेताओं पर हमला बोलते हुए पेठिया कहते हैं कि अलगाववादी नेता अपने बच्चों को तो विदेश में पढ़ाते है और कश्मीर के युवाओं को हिंसा की तरफ धकलते है, वहीं पेठिया कहते हैं कि इस फैसले के असर पाकिस्तान के बार-बार कश्मीर राग उठाने पर भी दिखेगा अब उसको अलगावादियों और सर्मथक नेताओं का सपोर्ट नहीं मिल पाएगा।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख 1984 सिख दंगे : सज्जन कुमार की याचिका पर अगले साल सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट