राम मंदिर पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दिया यह बयान

बुधवार, 2 जनवरी 2019 (15:55 IST)
इंदौर। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का रास्ता साफ करने के लिए अध्यादेश लाए जाने को 'आखिरी विकल्प' बताते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बुधवार को कहा कि इस मसले के समाधान के लिए अभी अन्य उपाय आजमाए जा सकते हैं।


विजयवर्गीय ने कहा कि राम मंदिर मामले में अध्यादेश लाए जाने को लेकर अभी जल्दबाजी की कोई आवश्यकता नहीं है, क्योंकि इस मसले के समाधान के लिए अन्य विकल्प खुले हैं। उन्होंने कहा कि शीर्ष न्यायालय में राम मंदिर मामले की सुनवाई होने वाली है। देखते हैं कि वहां क्या निर्णय होता है। इसके अलावा दोनों पक्ष आपस में बात कर इस मसले को सुलझा सकते हैं।

विजयवर्गीय ने कहा कि भाजपा एक जवाबदेह पार्टी है। राम मंदिर मामले में हम फिलहाल अध्यादेश लाकर देश में सामाजिक समरसता का ताना-बाना तोड़ना कतई नहीं चाहते।

भाजपा महासचिव ने हालांकि कहा कि अगर भविष्य में आवश्यक होगा, तो राम मंदिर मामले में अध्यादेश भी लाएया जागा, लेकिन अध्यादेश लाया जाना इस सिलसिले में आखिरी विकल्प होगा।

विजयवर्गीय ने कहा कि हमारी जवाबदेही है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो और इसके साथ ही देश में शांति भी बनी रहे।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख राहुल के AA के जवाब में जेटली के Q का रहस्य