Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कुछ कश्मीरी नेता छूटे, बाकी बिना शर्त रिहाई पर अड़े

webdunia

सुरेश डुग्गर

जम्मू। राज्य प्रशासन ने 5 अगस्त से हिरासत में लिए गए 3 नेताओं को गुरुवार को रिहा कर दिया है। इन नेताओं में यावर मीर, नूर मोहम्मद और शोएब लोन शामिल हैं। दूसरी ओर महबूबा मुफ्ती, सज्जाद गनी लोन, फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला जैसे कद्दावर नेता फिलहाल रिहा इसलिए नहीं किए गए हैं क्योंकि वे बिना शर्त रिहाई पर अड़े हुए हैं।

अधिकारियों ने बुधवार देर रात बताया कि ये तीनों नेता 5 अगस्त से हिरासत में थे और इनको रिहाई के लिए मुचलका भी भरना पड़ा है। दरअसल 5 अगस्त से राज्य के दो टुकड़े करने और उसकी पहचान खत्म किए जाने की कवायद के बाद से ही 5 हजार के लगभग छोटे-बड़े राजनीतिज्ञों को हिरासत में रखा गया है और अब उनमें से उनकी रिहाई संभव हो रही है, जो प्रशासन की शर्तें मानते हुए मुचलके पर हस्ताक्षर कर बांड भर कर दे रहे हैं।

ये बिना शर्त रिहाई पर अड़े : दूसरी ओर महबूबा मुफ्ती, सज्जाद गनी लोन, फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला जैसे कद्दावर नेता फिलहाल रिहा इसलिए नहीं किए गए हैं क्योंकि वे बिना शर्त रिहाई पर अड़े हुए हैं।

यावर मीर रफियाबाद विधानसभा सीट से पीडीपी के पूर्व विधायक हैं, जबकि शोएब लोन ने उत्तरी कश्मीर से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और बाद में पार्टी से इस्तीफा दे दिया। लोन को पीपुल्स कॉन्‍फ्रेंस के प्रमुख सज्जाद लोन का करीबी माना जाता था।

तीसरे नेता नूर मोहम्मद नेशनल कॉन्‍फ्रेंस कार्यकर्ता हैं और श्रीनगर शहर के आतंकवाद प्रभावित बटमालू क्षेत्र में पार्टी का चेहरा हैं। तीनों नेता शांति और अच्छा व्यवहार बनाए रखने के लिए हलफनामा भी दे चुके हैं। इससे पहले 21 सितंबर को पीपुल्स कॉन्‍फ्रेंस के इमरान अंसारी और सैयद अखून को स्वास्थ्य आधार पर राज्य प्रशासन ने रिहा किया था।

गुरुवार को रिहा किए गए तीन कश्मीरी नेताओं को लेकर महबूबा मुफ्ती ने सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि आज रिहा किए गए नेताओं को बांड पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर किया गया।

इस दौरान महबूबा ने सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए हिरासत को ही अवैध बताया। साथ ही अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए यह बात भी सामने आई कि महबूबा मुफ्ती सहित कई नेताओं ने इन बांड पर हस्ताक्षर करने के लिए स्पष्ट रूप से मना कर दिया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

टोक्यो ओलंपिक में 'India House' से दुनिया जानेगी भारतीय संस्कृति