बेटी के दुनिया में आने से पहले पिता का शव घर पहुंचा, शहीद की पत्नी के जज्बे को आप भी सलाम करेंगे...

बुधवार, 24 अक्टूबर 2018 (12:44 IST)
एक तरफ शहीद पति के अंतिम संस्कार की तैयारियां चल रही हों, दूसरी ओर बेटी पहली बार इस दुनिया में आंखें खोले। कोई भी अंदाजा नहीं लगा सकता उस मां और पत्नी की पीड़ा का। वह बेटी के जन्म की खुशी मनाए या फिर आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए पति की मौत का मातम।
 
लेकिन, जम्मू कश्मीर के रामबन निवासी शहीद रणजीत सिंह भुटियाल की पत्नी शिंपू देवी ने गजब का जज्बा दिखाया। उन्होंने पति की शहादत के बाद कहा कि उनकी इच्छा है कि उनकी बेटी भी सेना में जाए और देश की सेवा करे।
उल्लेखनीय है कि राजौरी जिले में रविवार को पाकिस्तानी घुसपैठियों के साथ मुठभेड़ में जम्मू कश्मीर लाइट इन्फेंट्री के लांसनायक रणजीतसिंह शहीद हो गए थे। इस मुठभेड़ में अन्य सैनिक भी शहीद हुए थे।   
 
जानकारी के मुताबिक रणजीत पत्नी की डिलिवरी के चलते 22 अक्टूबर को रामबन पहुंचने वाले थे, लेकिन दुर्भाग्य से उनकी पार्थिव देह वहां पहुंची। शादी के 10 साल बाद शहीद रणजीत के घर में किलकारियां गूंजी हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING