Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बेगुनाहों को मारने वाले आतंकियों से सुरक्षाबलों ने लिया बदला, लश्कर का कमांडर गुलजार अहमद रेशी ढेर, 15 दिनों में 17 को पहुंचाया जहन्नुम

webdunia

सुरेश एस डुग्गर

बुधवार, 20 अक्टूबर 2021 (21:08 IST)
जम्मू। कश्मीर में गैर कश्मीरियों विशेषकर बाहरी राज्यों के श्रमिकों की हत्या में लिप्त 4 आतंकियों को सुरक्षाबलों ने बुधवार को शोपियां व कुलगाम में हुई दो अलग-अलग मुठभेड़ों में मार गिराया। इस दौरान एक सैन्यकर्मी शहीद व तीन अन्य जख्मी हो गए।
webdunia

मारे गए आतंकियों में लश्कर-ए-तैयबा के हिट स्क्वॉड द रजिस्टेंस फ्रंट टीआरएफ का जिला शोपियां का कमांडर आदिल हुसैन वानी और कुलगाम में लश्कर का जिला कमांडर गुलजार अहमद रेशी शामिल हैं। मारे गए आतंकियों के पास से सुरक्षाबलों ने हथियारों का एक बड़ा जखीरा भी बरामद किया है। बीते एक पखवाड़े में सुरक्षाबलों ने 11 मुठभेड़ों में अब तक 17 आतंकियों को मार गिराया है।
 
पुलिस के अनुसार मारे गए चारों आतंकी सहारनपुर उत्तरप्रदेश के बढ़ई सगीर अहमद अंसारी और वनपोह कुलगाम में बिहार के दो श्रमिकों की हत्या के लिए जिम्मेदार थे। शहीद सैन्यकर्मी का नाम कर्णवीरसिंह है। 
शाम 7 बजे शोपियां के साथ सटे जिला कुलगाम के सोपट इलाके में एक अभियान चलाया।

जवानों ने जैसे ही आतंकियों के ठिकाने की तरफ कदम बढ़ाया, आतंकियों ने उन्हें देख वहां से भागने का प्रयास करते हुए गोली चलाई। जवानों ने खुद को बचाते हुए जवाबी फायर किया और करीब 10 मिनट में ही वहां छिपे दोनों आतंकी मारे गए। इनमें एक कुलगाम में लश्कर का जिला कमांडर गुलजार अहमद रेशी है।
 
इससे पहले दिन में कश्मीर में सुरक्षाबलों ने यूपी के कारपेंटर की हत्या में शामिल एक आतंकी कमांडर और उसके साथी को ढेर करने का दावा किया था। इस मुठभेड़ में सेना का एक जवान भी शहीद हो गया तथा 3 अन्य जख्मी हो गए जबकि कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार का कहना था कि पिछले 15 दिनों में 11 मुठभेड़ों में जो 17 आतंकी मारे गए वे सभी नागरिकों की हत्याओं में शामिल थे।
 
 पुलिस ने बताया कि शोपियां के द्रगाड इलाके में सुरक्षाबलों ने कुछ ही घंटों में द रजिस्टेंस फ्रंट अर्थात टीआरएफ के दो आतंकियों को ढेर कर दिया। आज मार गिराए गए दो आतंकियों में टीआरएफ का जिला कमांडर शोपियां आदिल अहमद वानी भी शामिल था।

आदिल वही आतंकी है जिसने टारगेट किलिंग के तहत गत दिनों पुलवामा में बाहरी श्रमिक साकिर अहमद वानी निवासी सहारनपुर उत्तरप्रदेश की हत्या की थी। दूसरे आतंकी की पहचान होना अभी बाकी है। इस मुठभेड़ में सेना का एक जवान शहीद जबकि तीन अन्य घायल भी हुए हैं।
webdunia
आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने दो आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि करते हुए कहा कि फिलहाल एक आतंकी की पहचान कर ली गई है। उसका नाम आदिल अहमद वानी था और वह जुलाई 2020 से आतंकी गतिविधियों में सक्रिय था। यही नहीं, उसी ने लिट्टर, पुलवामा में एक गरीब मजदूर की हत्या की थी।
 
आईजीपी ने कहा कि कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ जारी अभियान के दौरान अभी तक 2 हफ्ते के भीतर सुरक्षाबलों ने अभी तक 17 आतंकियों को ढेर कर दिया है। शोपियां में इस अवधि के दौरान यह तीसरी मुठभेड़ थी। उनका दावा था कि ये सभी आतंकी नागरिकों की हत्याओं में शामिल थे जबकि वे यह भी कहते थे कि अन्य प्रवासी नागरिकों की हत्या में शामिल आतंकियों की पहचान कर ली गई है और उनकी तलाश तेज की जा चुकी है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

वैज्ञानिकों का सबसे बड़ा चमत्कार, सूअर की किडनी को मानव शरीर से जोड़ा