Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Jammu Kashmir Terrorist Attack : टारगेट किलिंग के बीच इमरजेंसी एडवाइजरी, गैर कश्मीरियों को सेना और पुलिस कैंप में शिफ्ट किया जाएगा

हमें फॉलो करें webdunia
रविवार, 17 अक्टूबर 2021 (23:10 IST)
श्रीनगर। दो और गैर स्थानीय लोगों की हत्या के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अपने सभी जिला प्रमुखों से कहा कि वे गैर स्थानीय मजदूरों को एकत्र करें और ‘तत्काल’ उन्हें नजदीकी सुरक्षा शिविरों में लाएं। यह बड़ा फैसला आतंकवादियों द्वारा 2 मजूदरों की हत्या करने और दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में एक अन्य को गंभीर रूप से घायल करने के बाद उठाया गया है।
ALSO READ: क्या रद्द होगा भारत-PAK मैच? जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटनाओं के बीच केंद्रीय मंत्री का बड़ा बयान
सभी जिला पुलिस प्रमुखों को भेजे संदेश में पुलिस महानिरीक्षक (कश्मीर रेंज) विजय कुमार ने कहा कि आपके न्यायाधिकार क्षेत्र में रह रहे सभी गैर स्थानीय मजदूरों को तत्काल नजदीकी पुलिस थाने या केंद्रीय अर्धसैनिक बल या सेना के प्रतिष्ठानों में लाया जाना चाहिए।
ALSO READ: Kulgam Terrorist Attack : कश्मीर में बिहार के 3 लोगों को गोली मारी; 2 की मौत, 1 घायल, प्रवासी नागरिकों को सेना और पुलिस के कैंपो में शिफ्ट करने के निर्देश
संदेश में कहा गया कि यह मामला अतिआवश्यक है। लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने प्रवासी नागरिकों पर हमले करते हुए 2 और बिहारी नागरिकों की हत्या कर दी है। तीसरा गंभीर रूप से जख्मी प्रवासी नागरिक भी बिहार का है। कल भी दो प्रवासी नागरिकों की आतंकियों ने हत्या कर दी थी।
webdunia

पुलिस ने बताया कि आतंकियों ने आज देर शाम दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में लारा गांजीपोरा गांव में प्रवासी श्रमिकों पर उस समय गोलियां बरसाईं जब वे एक किराए के मकान में रह रहे थे।
webdunia

पुलिस ने बताया कि मारे गए दो बिहारी नागरिकों की पहचान राजा रिषीदेव और जोगिन्द्र रिषीदेव के तौर पर की गई है जबकि तीसरे घायल की पहचान चुनचुन रिषी देव के रूप में हु्ई है। वह भी बिहार का रहने वाला था।
webdunia

तीनों एक ही कमरे में रहते थे। आतंकियों ने इस माह में अभी तक 12 नागरिकों को मार डाला है। इनमें 8 अल्पसंख्यक समुदाय के थे और पांच प्रवासी नागरिक थे।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

केरल में छोटे बादल फटने की घटनाओं के कारण अचानक बाढ़ आई और भूस्खलन हुआ