Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

MCU में छात्रों के निष्कासन को लेकर सदन से सड़क तक हंगामा, 3 छात्रों का निष्कासन रद्द

webdunia

विशेष प्रतिनिधि

गुरुवार, 19 दिसंबर 2019 (08:37 IST)
भोपाल। माखनलाल यूनिवर्सिटी में छात्रों के निष्कासन के मुद्दे को लेकर बुधवार को सड़क से लेकर सदन तक जमकर हंगामा हुआ। दो एडजंक्ट प्रोफेसरों के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले छात्रों के निष्कासन का मुद्दा बुधवार को विधानसभा में गूंजा। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने प्रश्नकाल के फौरन बाद सदन में एमसीयू के मामले को जोरशोर से उठाया। दोनों ही नेताओं ने छात्रों के उपर हुई एफआईआर को वापस लेने और छात्रों का निष्कासन तुरंत रद्द करने की मांग को लेकर सरकार को घेरा।

इस दौरान विपक्ष के कई और विधायकों ने अपने स्थान पर खड़े होकर छात्रों पर हुई कार्रवाई की निंदा की। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने छात्रों के निष्कासन का मुद्दा उठाते हुए कहा कि सदन में इस पर चर्चा की मांग की। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि छात्रों पर लाठीचार्ज करना और उन पर एफआईआर कर जेल भेजना बहुत ही आपत्तिजनक है। नेता प्रतिपक्ष ने छात्रों की शिकायत पर कार्रवाई न करके विरोध करने वाले छात्रों को बाहर का रास्ता दिखा दिया जो कि पूरी तरह गलत है। इस दौरान विपक्ष ने आरोप लगाया कि छात्रों के साथ आतंकी जैसा व्यवहार किया जा रहा है। 
 
विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए संसदीय कार्यमंत्री गोविंद सिंह ने कहा कि छात्रों के प्रति हमारी संवेदना है और उनको पूरा संरक्षण भी है। उन्होंने कहा कि मामले की पूरी जानकारी मांगई जा रही है और जल्द ही इस पूरे मामले का हल निकाला जाएगा। वहीं पूरे मामले में यूनिवर्सिटी प्रशासन ने माफी मांगने वाले तीन छात्रों का निष्कासन रद्द कर दिया है।
 
 
यूनिवर्सिटी में रहीं गहमागहमी -  दूसरी तरफ छात्रों के निष्कासन के विरोध में बुधवार को दिन भर यूनिवर्सिटी कैंपस में गहमगहमी देखने को मिली। छात्रों के निष्कास के विरोध में पूर्व छात्रों और पत्रकारों का एक  दल यूनिवर्सिटी पहुंचा और प्रबंधन और निष्कासित किए गए छात्रों से अलग अलग चर्चा की। पत्रकारों ने छात्रों के निष्कासन पर विरोध जताते हुए यूनिवर्सिटी गेट पर शांति पूर्ण प्रदर्शन करते हुए उनके निष्कासन को रद्द करने और एफआईआर वापस लेने की मांग की। पत्रकारों के दल ने आंदोलन कर रहे छात्रों से समझाते हुए उन्हें राजनीतिक पचड़े से दूर रहने की सलाह दी। 
 
उपराष्ट्रपति तक पहुंचा मामला – उधर माखनलाल यूनिवर्सिटी की पूरा मामला अब दिल्ली भी पहुंच गया है। भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने इस मुद्दें को लेकर उपराष्ट्रपति वैंकेया नायूड से मुलाकात की। साध्वी प्रज्ञा ने माखनलाल यूनिवर्सिटी के मुद्दें पर उपराष्ट्रपति को एक पत्र देकर पूरे मामले में संज्ञान लेने की बात कही।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

अमेरिका में ट्रंप के खिलाफ महाभियोग, निचले सदन से पास हुआ प्रस्ताव