क्या MI17V5 हेलीकॉप्टर भारतीय मिसाइल का ही निशाना बन गया था?

शनिवार, 30 मार्च 2019 (13:34 IST)
नई दिल्ली। पाकिस्तान के बालाकोट में भारत की कार्रवाई के बाद भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों पर कार्रवाई के दौरान भारतीय वायुसेना का एमआई 17 वी5 हेलीकॉप्टर भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसमें वायुसेना के छह अधिकारियों समेत सात लोगों की मौत हो गई थी। अब इस दुर्घटना को लेकर नया खुलासा हुआ है।
 
हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक हेलीकॉप्टर दुर्घटना से ठीक पहले भारतीय सेना ने एक एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइल भी दागी थी। अनुमान है कि हेलीकॉप्टर इसी मिसाइल की वजह से दुर्घटनाग्रस्त हुआ था। जबकि पाकिस्तान के मेजर जनरल आसिफ गफूर ने दावा किया था कि पाकिस्तान ने भारत के दो विमानों को मार गिराया है। 
 
रिपोर्ट के मुताबिक अभी इस मामले की जांच चल रही है कि जिस समय मिसाइल दागी गई थी उस समय मित्र और शत्रु पहचान करने वाला सिस्टम चालू था या नहीं। गौरतलब है कि उस समय प्रत्यक्षदर्शियों ने भी हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होने से पहले हवा में धमाके की बात कही थी। 17 मिलियन डॉलर की कीमत वाले इस हेलीकॉप्टर को 2012 में ही सेना में शामिल किया गया था। 
 
एयरफोर्स के सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है कि यह भी जांच की जा रही है कि दागी गई इसराइली मिसाइल में तो कोई गड़बड़ी नहीं थी। यह भी कहा जा रहा है कि यदि इस मामले कें कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कोर्ट मार्शल की कार्रवाई की जा सकती है। 
 
उल्लेखनीय है कि 27 फरवरी को पाकिस्तान के 25 लड़ाकू विमान अवैध रूप से भारतीय सीमा में घुस गए थे। इसी दौरान कार्रवाई में भारतीय सेना ने पाकिस्तान के एक एफ16 विमान को मार गिराया था।
 
हवा में चले संघर्ष के दौरान भारत का मिग21 भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया था और उसमें सवार पायलट अभिनंदन वर्धमान विमान से कूदकर पाकिस्तान की सीमा में पहुंच गए थे। हालांकि बाद में भारतीय दबाव के चलते पाकिस्तान ने उन्हें छोड़ दिया था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख राजनाथ ने पूछा- मोदी को बालाकोट हमले का श्रेय क्यों नहीं मिलना चाहिए