गुरुनानक जयंती पर मोदी सरकार का बड़ा तोहफा, करतारपुर कॉरिडोर को मिली मंजूरी

शुक्रवार, 23 नवंबर 2018 (08:04 IST)
नई दिल्ली। पाकिस्तान में ऐतिहासिक गुरुद्वारे को भारत के सीमावर्ती जिले गुरदासपुर से जोड़ने वाले प्रस्तावित करतारपुर गलियारा को बनाए जाने की सिख समुदाय की लम्बे समय से लंबित मांग अंतत: पूरी हो सकती है क्योंकि दोनों देशों ने अपने अपने क्षेत्रों में गलियारा बनाने की घोषणा की है।
 
एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने गुरुवार को पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक से अंतरराष्ट्रीय सीमा तक कॉरिडोर बनाने के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी।
 
केन्द्रीय मंत्रिमंडल के फैसले के बाद विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान से पड़ोसी देश में करतारपुर साहिब तक कॉरिडोर के निर्माण का आग्रह किया है ताकि भारतीय श्रद्धालु करतारपुर तक जा सकें जहां सिख धर्म के संस्थापक गुरू नानक देव ने जीवन के अंतिम क्षण बिताए थे।
 
कुछ घंटे बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि पाक ने भारत को करतारपुर कॉरिडोर खोलने के फैसले से अवगत करा दिया है। विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान को पत्र भेजकर उनकी तरफ गलियारा बनाये जाने का आग्रह किया।
 
पंजाब सरकार के सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह 26 नवम्बर को गुरदासपुर में डेरा बाबा नानक में करतारपुर गलियारे की आधारशिला रखेंगे।
 
गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने ट्वीट में कहा कि एक महत्वपूर्ण निर्णय में कैबिनेट ने गुरदासपुर से अंततराष्ट्रीय सीमा तक करतारपुर कारिडोर के विकास को मंजूरी प्रदान कर दी। करतारपुर कॉरिडोर परियोजना में केंद्र सरकार के वित्त पोषण से सभी आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।
 
सूत्रों ने कहा कि भारत, भारतीयों की पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारे में सुलभ आवाजाही के पक्ष में है और तीर्थयात्रियों की संख्या को लेकर कोई पाबंदी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान की तरफ भारतीय नागरिकों के लिए स्वतंत्र और आसानी से उपलब्ध वाणिज्य दूतावास संपर्क मिलना चाहिए। 
 
सूत्रों ने कहा कि भारत चाहता है कि यह गलियारा हर दिन 24 घंटे खुला रहे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की तरफ श्रद्धालुओं के सामने खालिस्तानी पोस्टरों के प्रदर्शन या वाणिज्य दूतावास के अधिकारियों तक पहुंच में कठिनाई जैसी परेशानियों के बावजूद सिख धर्मावलम्बी इस कठिन यात्रा को करते हैं।
 
पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने करतारपुर गलियारा का निर्माण शुरू किये जाने संबंधी भारत की घोषणा का स्वागत किया और इसे शांति की विजय बताया।
 
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट किया, 'ऐतिहासिक करतारपुर साहिब कारिडोर को मंजूरी देने के लिए मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त करता हूं। इससे पाकिस्तान स्थित गुरूद्वारा दरबार साहब करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं को काफी मदद मिलेगी।'
 
उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने भारत की समृद्ध धार्मिक विविधता को आगे बढ़ाने के लिये संजीदगी से काम किया है और इस कदम से यह और मजबूत होगा।
 
शिअद नेता सुखबीर बादल ने करतारपुर गलियारा विकसित करने संबंधी केन्द्रीय मंत्रिमंडल के फैसले को ऐतिहासिक बताया।
 
पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन के लिये पंजाब के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक से गलियारे के निर्माण के केन्द्र के फैसले का पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने स्वागत किया। (भाषा) 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING