Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

आम चुनाव से पहले मोदी करेंगे जोजिला सुरंग का उद्घाटन, 4 घंटे की दूरी 15 मिनट में हो जाएगी तय

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 28 सितम्बर 2021 (21:16 IST)
बालटाल। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने नितिन गडकरी ने अगले 2 साल के दौरान जम्मू-कश्मीर में ढांचागत विकास को और गति देने का भरोसा दिलाते हुए कहा है कि श्रीनगर तथा लेह के बीच की जीवन रेखा जोजिला सुरंग पर दिसंबर 2023 तक काम पूरा कर लिया जाएगा।

 
गडकरी ने मंगलवार को सुरंग के पश्चिमी हिस्से पर काम की प्रगति की समीक्षा करने के बाद यहां कहा कि इस सुरंग के निर्माण का लक्ष्य 2026 है लेकिन उन्होंने सुरंग बना रही कंपनी मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के महानिदेशक कृष्णा रेडी से आग्रह किया है कि 2024 में देश में आम चुनाव होने है इसलिए उससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों इस सुरंग का उद्घाटन करवाना है।

 
उन्होंने कहा कि श्रीनगर-लेह मार्ग बालटाल होते हुए जोजिला दर्रे से जाता है। इस मार्ग को भारी हिमपात होने के कारण सर्दियों में 6 माह के लिए यातायात बंद कर दिया जाता। यह सड़क बन जाएगी तो श्रीनगर-लेह के हर मौसम में यातायात संचालित किया जा सकेगा जिसका फायदा स्थानीय लोगो के साथ ही सेना और पर्यटकों को भी होगा।

webdunia
 
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह सुरंग सामरिक महत्व की है और 12 महीने यहां से सेना के वाहनों की आवाजाही हो सकेगी। उन्होंने इस सुरंग को श्रीनगर और लेह को जोड़ने वाली सड़क सामाजिक और आर्थिक प्रगति का विकास मार्ग बताया और कहा कि इसके निर्माण से न हर मौसम में श्रीनगर-लेह के बीच आवाजाही होने के साथ यात्रा का समय भी घटेगा और सुरंग के पूर्वी तथा पश्चिमी हिस्से की बीच की दूरी 15 मिनट में तय की जा सकेगी जिसे पूरा करने में अभी 3.30 से 4 घंटे का समय लगता है।
 
उन्होंने कहा कि यह सुरंग जम्मू-कश्मीर में सामाजिक और आर्थिक हालात के लिए परिवर्तन कार्य साबित होगी। सुरंग के निर्माण के 3 साल बाद यहां पर्यटन 5 गुना बढ़ जाएगा और होटलों की संख्या में 10 गुना वृद्धि होगी। इससे युवाओं के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।(वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

इस्तीफों के बाद पंजाब कांग्रेस का संकट बढ़ा, अब सिद्धू के अगले कदम पर नजर