Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

16 घंटे में 900 किमी तय कर रोपड़ से बांदा जेल पहुंचा मुख्तार अंसारी

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
बुधवार, 7 अप्रैल 2021 (07:51 IST)
लखनऊ। पुलिस ने 16 घंटे में 900 किमी तय कर पंजाब की रोपड़ जेल से माफिया डान मुख्तार अंसारी को बांदा जेल शिफ्ट कर दिया है। इस दौरान 3 बार उनका रास्ता बदला गया।
 
भारी भरकम सुरक्षा इंतजाम के बीच मऊ के बाहुबली बसपा विधायक को फिरोजाबाद, इटावा और कानपुर के रास्ते बांदा ले जाया गया। इस दौरान चप्पे चप्पे पर पुलिस की कड़ी निगरानी थी। मुख्तार के काफिले में शामिल वाहनों को ईधन भरवाने के लिए जेवर पेट्रोल पंप पर रोका गया था।
 
उधर बांदा जेल में सुरक्षा के कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। मंडल कारागार परिसर से लेकर मुख्य द्वार तक और मुख्य द्वार से बैरक तक जेल परिसर को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया गया। परिसर से लेकर मुख्य द्वार और बैरक तक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए।
 
परिसर के बाहर सड़क के किनारे बने द्वार के निकट पक्की सुरक्षा पोस्ट बनाई गई है। परिसर में जिला पुलिस और पीएसी की भी तैनाती की गयी है। मुख्तार को जेल की बैरक नंबर 15 में पहुंचाया गया।
 
बांदा जेल में सजा काट चुका है यह दुर्दांत अपराधी : करीब 600 कैदियों की क्षमता वाली बांदा जेल कई बाहुबली और दुर्दांत अपराधियों को जगह दे चुका है जिनमें खुद मुख्तार के अलावा कुंडा के विधायक राजा भैया, इलाहाबाद के बाहुबली अतीक अहमद, शीलू हत्याकांड के आरोपी विधायक पुरुषोत्तम द्विवेदी शामिल रहे हैं। बांदा जेल में ददुआ, बलखड़िया, गौरी यादव, संग्राम सिंह जैसे डकैत भी सजा काट चुके है या काट रहे हैं।
 
नहीं चलेगी बाहुबली की दादागिरी : मुख्तार अंसारी के खिलाफ उत्तर प्रदेश के 24 थानों में 52 केस दर्ज हैं। उसे बांदा जेल से पिछले साल 21 जनवरी को पंजाब में रोपड़ जिले की रूपनगर जेल में शिफ्ट किया गया था। जेल सूत्रों का कहना है कि इससे पहले मुख्तार को सभी सुविधायें मुहैया कराई जाती थी। यहां तक कि उसकी बैरक में निर्वाध विद्युत आपूर्ति के लिये विशेष जनरेटर सेट का इंतजाम किया गया था हालांकि इस बार बाहुबली की दादागिरी इस जेल में नहीं चलेगी।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
गुजरात में कोरोना से हाल बेहाल, 20 शहरों में नाइट कर्फ्यू