उत्तरी भारत में ठंड का कहर जारी, श्रीनगर में टूटा 11 साल का रिकॉर्ड

सोमवार, 24 दिसंबर 2018 (23:45 IST)
नई दिल्ली। उत्तर भारत के बड़े हिस्से में ठंड का कहर जारी है और सोमवार को भी इससे राहत नहीं मिली। श्रीनगर में रविवार की रात में शून्य से 6.8 डिग्री सेल्सियस नीचे तापमान दर्ज किया गया, जो कि पिछले 11 साल में सबसे कम था। पर्यटकों के बीच मशहूर डल झील आंशिक रूप से जम गई। पंजाब के अमृतसर में भी तापमान 1.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
 
मौसम विभाग ने बताया कि सोमवार को दिल्ली के लोगों ने भी कंपकंपाती ठंड में आंखें खोलीं। यहां न्यूनतम तापमान 4.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पश्चिमोत्तर भारत में शीतलहर चलने की वजह से तापमान में यह गिरावट दर्ज की गई।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में न्यूनतम तापमान मौसम के औसत तापमान से 3 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, वहीं अधिकतम तापमान 21.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। रविवार को अधिकतम तापमान और न्यूनतम तापमान क्रमश: 22 डिग्री सेल्सियस और 3.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।
 
मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में सोमवार की रात में तापमान शून्य से 6.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जो कि पिछले 11 वर्षों में सबसे ठंडी रात थी। शीतलहर की वजह से कई जल निकाय जम गए।

डल झील के किनारे भी जम गए। इसके अलावा आवासीय जलापूर्ति पाइप में पानी के भी जमने की खबर है। श्रीनगर में सबसे कम तापमान 13 दिसंबर 1934 को शून्य से 12.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था और यह अब तक रिकॉर्ड सबसे कम तापमान है।
मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने सोमवार को कहा कि श्रीनगर शहर में न्यूनतम तापमान शून्य से 6.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। शहर में करीब 11 वर्ष में यह सबसे कम तापमान रहा है। 31 दिसंबर 2007 को शहर में न्यूनतम तापमान शून्य से 7.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था।

काजीगुंड में रविवार रात न्यूनतम तापमान शून्य से 5 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया तथा पास के कोकरनाग में यह शून्य से 3.9 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि उत्तरी कश्मीर के कूपवाड़ा में रविवार रात न्यूनतम तापमान शून्य से 6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।
 
अधिकारी ने बताया कि पहलगाम में रविवार रात का तापमान शून्य से 7.2 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा तथा गुलमर्ग में यह शून्य से 6.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। अधिकारी ने बताया कि लेह में रविवार रात न्यूनतम तापमान शून्य से 14.7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया और पास के कारगिल में यह शून्य से 15.3 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा।
 
कश्मीर इस वक्त चिल्लैकलां की गिरफ्त में है। 40 दिन की इस अवधि के दौरान सबसे अधिक सर्दी महसूस की जाती है। बर्फबारी भी अधिक होती है। इससे अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान में निरंतर गिरावट देखी जाती है। चिल्लैकलां 31 जनवरी को खत्म हो जाता है, वैसे कश्मीर में इसके बाद भी शीतलहर जारी रहती है।
 
पंजाब और हरियाणा में शीतलहर का प्रकोप सोमवार को भी जारी रहा और अमृतसर में न्यूनतम तापमान 1.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने यहां बताया कि अमृतसर और हलवारा का न्यूनतम तापमान एक समान ही रहा और दोनों राज्यों में न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे दर्ज किया गया।

लुधियाना, पटियाला, आदमपुर, अमृतसर, हलवारा, सिरसा, भिवानी, रोहतक, झज्जर और अंबाला सहित दोनों राज्यों में घने कोहरे के कारण कई स्थानों पर दृश्यता कम रही। अधिकारी ने बताया कि आदमपुर में न्यूनतम तापमान 1.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि बठिंडा का न्यूनतम तापमान 3.2 डिग्री सेल्सियस रहा।
 
हरियाणा में करनाल सबसे ठंडा स्थान रहा और यहां पर न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस रहा। अंबाला और हिसार में न्यूनतम तापमान क्रमश: 3.8 और 4.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ का न्यूनतम तापमान 5.4 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विज्ञानियों ने बताया कि हरियाणा और पंजाब में अगले कुछ दिनों में शीतलहर का असर जारी रहेगा।
 
राजस्थान में न्यूनतम तापमान में वृद्धि के बावजूद कुछ हिस्सों में शीतलहर के कारण सर्दी का असर बरकरार है। मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार अलवर और श्रीगंगानगर में शीतलहर के साथ घने कोहरे के कारण दृश्यता 50 मीटर से 200 मीटर तक दर्ज की गई। विद्युत विभाग के अनुसार श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ में घने कोहरे के कारण विद्युत ग्रिड स्टेशनों में आर्ई खराबी के चलते विद्युत आपूर्ति बाधित हुई है।
 
उन्होंने बताया कि श्रीगंगानगर में न्यूनतम तापमान 2.7 डिग्री सेल्सियस, चुरू में 5.2, बीकानेर में 5.5, उदयपुर में 7.2, जैसलमेर में 7.5, कोटा में 7.6, अजमेर में 9.0, बाड़मेर में 10.0, जयपुर में 10.01, जोधपुर में 11.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, वहीं प्रदेश के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान 17.5 डिग्री सेल्सियस से लेकर 26 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING