बालाकोट एयरस्ट्राइक का फर्जी वीडियो पोस्ट करने पर पाकिस्तान की उड़ी खिल्ली

सोमवार, 29 जुलाई 2019 (08:46 IST)
इस्लामाबाद। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर ने भारतीय वायुसेना के पूर्व एयर मार्शल डेंजिल कीलोर का एक फर्जी वीडियो पोस्ट किया। इस वीडियो 26 फरवरी को हुई बालाकोट एयर स्ट्राइक से जोड़ा गया। वीडियो के फर्जी पाए जाने के बाद सोशल मीडिया पर पाकिस्तान सेना की खूब खिल्ली उड़ी। गफूर ने इसे फर्जी मानकर गलती स्वीकार की। 
 
वीडियो में दावा किया गया है कि एयर स्ट्राइक के एक दिन बाद 27 फरवरी को एयर मार्शल कीलोर भारत और पाक के लड़ाकू विमानों के बीच हुई डॉगफाइट के दौरान भारतीय वायुसेना की विफलता के बारे में बात कर रहे थे। सोशल मीडिया यूजर्स ने तत्काल पाकिस्तान बेनकाब कर दिया। 
 

Admission of Indian failure and losses on 27 February 2019 by a well decorated Indian Airforce veteran Air Marshal Denzil Keelor.#Surprise pic.twitter.com/uTeErbucCl

— Asif Ghafoor (@peaceforchange) July 28, 2019
यूजर्स ने बताया कि यह वीडियो 2015 में रिकॉर्ड किया गया था जो कि बालाकोट से लगभग 4 साल पहले का है। यह वीडियो यूट्यूब पर 9 अगस्त, 2015 को वाइल्डरनेस फिल्म्स इंडिया द्वारा अपलोड किया गया था। इसमें कीलोर 1962 और 1965 की लड़ाई पर चर्चा कर रहे थे।
 
गफूर द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो में दाईं तरफ एक विमान की फुटेज दिखाई दे रही है। इसे लेकर दावा किया गया कि यह विमान विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान का है। भारतीय सेना ने कहा था कि एफ-16 को मार गिराने के दौरान पीओके में उसका एक विमान क्रैश हो गया था। एक अन्य यूजर्स ने लिखा- गफूर कल यह दावा करेंगे कि वह चांद पर पहुंच गए हैं।
 
 
सोशल मीडिया में झूठ बेपर्दा होने पर गफूर ने एक अन्य ट्वीट कर यह स्वीकार किया कि उनके द्वारा साझा की गई कीलोर की वीडियो क्लिप छेड़छाड़ कर तैयार की गई थी। हालांकि माफी मांगी मांगने के बाद भी इस वीडियो को नहीं हटाया गया।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बाढ़ में फंसे लोगों के लिए देवदूत बनी एनडीआरएफ, बचाई 16 लोगों की जिंदगी