गिरती अर्थव्यवस्था ने तोड़ी पाकिस्तान की कमर, भारत से की यह अपील

शनिवार, 11 मई 2019 (19:44 IST)
नई दिल्ली। पुलवामा आतंकी अटैक के बाद भारत ने पीओके में आतंकियों के ठिकानों को तबाह कर मुंहतोड़ जवाब दिया था। इसके अतिरिक्त भारत ने पाकिस्तान पर चौतरफा कूटनीतिक दबाव भी बनाया। अब खबरें आ रही हैं कि पाकिस्तान सीमा पर तनाव पर कम करने की कोशिशों में जुटा हुआ है। इसके लिए पाकिस्तानी सेना एलओसी से अपने स्पेशल सर्विस ग्रुप (एसएसजी) को हटाने के लिए भी तैयार है। पाकिस्तान ने इसके लिए प्रस्ताव भी भेजा है।
 
भारत सरकार के सूत्रों के अनुसार पाक सेना ने एलओसी के करीब स्थित आतंकियों के लॉन्च पैड्स अस्थायी तौर पर बंद कर दिए। हालांकि भारत ने यह स्पष्ट किया है कि आतंकवाद और घुसपैठ पर रोक ही शांति का एकमात्र रास्ता है। खबरों के अनुसार भारत से बढ़ते तनाव के कारण दूसरे देशों ने भी पाकिस्तान की मदद करने से मना कर दिया है। पाकिस्तान चाहता है कि वह भारत के साथ अच्छे रिश्तों की शुरुआत करे जिससे कि उसकी गिरती अर्थव्यवस्था को बचाया जा सके।
 
मीडिया में आईं खबरों के अनुसार दोनों देशों के बीच वार्ता के लिए बनाए गए संस्थागत सैन्य माध्यम से पाकिस्तान की सेना ने भारत को इस मामले में प्रस्ताव भेजा है। पाकिस्तान की ओर से प्रस्ताव में कहा गया है कि वह सीमा पर तनाव कम करने को तैयार है।
 
खबरों के अनुसार पाकिस्तान ने प्रस्ताव दिया है कि वह स्पेशल सर्विस ग्रुप (एसएसजी) को नियंत्रण रेखा से हटा देगा। एसएसजी पाकिस्तान की स्पेशल फोर्सेस में से एक है जिसे किसी भी देश के तनाव के दौरान सीमा पर लगाया जाता है। 
 
पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकियों के कायराना हमले के 13 दिन बाद ही भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया था। इस एयर स्ट्राइक में बड़ी संख्या में आतंकियों का खात्मा हो गया था। इसके बाद से ही दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था और पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर स्पेशल फोर्सेस और सेना की टुकड़ी की तैनाती कर दी थी।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख IPL 2019 Final : चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ मुंबई इंडियंस का पलड़ा भारी