Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Parliament Monsoon Session Live updates : अधीर रंजन चौधरी का आरोप, प्रश्नकाल हटाकर लोकतंत्र का गला घोट रही है मोदी सरकार

webdunia
सोमवार, 14 सितम्बर 2020 (15:00 IST)
नई दिल्ली। कोरोनावायरस महामारी के बीच संसद का मॉनसून सत्र आज से शुरू हुआ। यह सत्र गुरुवार 1 अक्टूबर तक चलेगा कोविड-19 महामारी के समय में संसद का यह पहला सत्र है, इसलिए संसद सत्र के दौरान कोविड-19 के दिशा-निर्देशों के तहत सुरक्षा के सभी प्रबंध किए गए हैं। संसद के मानसून सत्र से जुड़ा अपडेट


03:17 PM, 14th Sep
वित्तमंत्री ने अनुदान की अनुपूरक मांग के तहत 2.35 लाख करोड़ रुपए के लिए मंजूरी मांगी
सरकार ने सोमवार को अनुदान की अनुपूरक मांगों के पहले बैच के तहत 2,35,852 करोड़ रुपए के अतिरिक्त व्यय के लिए संसद से मंजूरी मांगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने निचले सदन में वर्ष 2020-21 के लिए अनुदान की अनुपूरक मांगें पेश कीं। इसमें महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कार्यक्रम के तहत 40 हजार करोड़ रुपए के अधिक व्यय की मंजूरी मांगी गई है। इसमें कहा गया है कि संसद से 2,35,852.87 करोड़ रुपये के सकल अतिरिक्त व्यय को अधकृत करने के लिए संसद का अनुमोदन मांगा जाता है।

वर्ष 2020-21 के लिये अनुदान की अनुपूरक मांगों के पहले बैच संबंधी दस्तावेज के अनुसार, इसमें निवल नकद व्यय 1,66,989.91 करोड़ रुपए कर है और विभिन्न मंत्रालयों एवं विभागों की बचत और बढ़ी हुई प्राप्तियों या वसूलियों के जरिये 68,868.33 करोड़ रूपये का प्रावधान किया जाएगा।

सरकार ने 15वें वित्त आयोग की सिफारिशों के अनुरूप केंद्रीय कर में हिस्सेदारी के बाद राजस्व घाटा की भारपाई के उद्देश्य से राज्यों को अतिरिक्त आवंटन के लिये 46,602.43 करोड़ रुपए की मांग की। वर्ष 2020-21 के लिए अनुदान की अनुपूरक मांगों के पहले बैच में 54 अनुदान और एक विनियोग शामिल है।

12:06 PM, 14th Sep
कांग्रेस और कई अन्य विपक्षी दलों के विरोध के बीच सरकार ने संसद के मानसून सत्र के दौरान प्रश्नकाल एवं गैर सरकारी कामकाज के निलंबन से जुड़े प्रस्ताव सोमवार को लोकसभा में रखा जिसे मंजूरी प्रदान कर दी गई।
विपक्षी दलों ने प्रश्नकाल के निलंबन का विरोध किया और सरकार पर सवालों से बचने का आरोप लगाया जिस पर सरकार ने कहा कि यह असाधारण परिस्थिति है जिसमें राजनीतिक दलों को सहयोग करना चाहिए।
 
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इस सत्र के दौरान प्रश्नकाल और गैर सरकारी कामकाज नहीं रखने पर अधिकतर दलों के नेताओं ने सहमति दी थी और प्रश्नकाल नहीं होने पर भी सदस्य सरकार से सवाल कर सकते हैं। संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि सरकार सवालों से भाग नहीं रही है और वह सभी सवालों का जवाब देने के लिए तैयार है। सदन ने प्रश्नकाल और गैर सरकारी कामकाज के निलंबन से जुड़े प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की।
 
संसदीय कार्यमंत्री ने जब यह प्रस्ताव रखा तो सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि प्रश्नकाल ‘स्वर्णकाल’ होता है और इसे सदन की आत्मा भी कहा जा सकता है। यह सरकार की जवाबदेही के लिए होता है। उन्होंने आरोप लगाया कि आजादी के 73 साल के बाद सरकार प्रश्नकाल हटाकर लोकतंत्र का गला घोंटने का काम कर रही है। एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी, कांग्रेस के मनीष तिवारी और तृणमूल कांग्रेस के कल्याण बनर्जी ने भी इस प्रस्ताव का विरोध किया।

11:51 AM, 14th Sep
हिरासत से रिहा होने के बाद फारुक अब्दुल्ला पहली बार लोकसभा पहुंचे। अधीर रंजन चौधरी, सुप्रिया सुले, दयानिधि मारन और कुछ अन्य सदस्य उनसे गर्मजोशी के साथ मिलते नजर आए। कई अन्य सदस्यों ने भी एक-दूसरे का अभिवादन किया।

11:51 AM, 14th Sep
सत्तापक्ष की तरफ पहली पंक्ति में प्रधानमंत्री मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर मौजूद थे। इसके साथ ही संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और सरकार के कई अन्य मंत्री भी उपस्थित थे। विपक्ष की तरफ सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी और कई अन्य दलों नेता मौजूद रहे।

11:51 AM, 14th Sep
कोरोना वायरस महामारी के बीच सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए सदस्यों के लोकसभा चैम्बर, गैलरी के साथ राज्यसभा में भी बैठाया गया है। मानसून सत्र के पहले दिन लोकसभा की कार्यवाही परंपरा के मुताबिक राष्ट्रगान के साथ आरंभ हुई। सदन में प्रधानमंत्री मोदी के पहुंचने पर सत्तापक्षा के सदस्यों ने तालियां बजाकर उनका अभिवादन किया और ‘भारत माता की जय’ के नारे भी लगाए।

11:50 AM, 14th Sep
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी सफेद रंग का मास्क पहनकर अपने आसन पर पहुंचे। सदन में सदस्यों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हर सीट के आगे प्लास्टिक शील्ड कवर लगाया गया था। सदन में बैठने की बदली हुई व्यवस्था के बीच कई सदस्यों को उनके स्थान तक पहुंचने में सहायक मदद करते भी दिखे। लोकसभा चैम्बर में करीब 200 सदस्य मौजूद थे तो लगभग 30 सदस्य गैलेरी में थे। लोकसभा चैम्बर में ही एक बड़ा टीवी स्क्रीन लगाया गया है जिसके माध्यम से राज्यसभा चैम्बर में बैठे लोकसभा के सदस्य भी नजर आ रहे थे।

11:50 AM, 14th Sep
लोकसभा की बैठक में शामिल हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मंत्री और सदस्य मास्क पहनकर पहुंचे और सामाजिक दूरी की अनुपालना सुनिश्चित की। प्रधानमंत्री मोदी ने नीले रंग का थ्री प्लाई मॉस्क पहन रखा था तो वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण और लोकजनशक्ति पार्टी के प्रमुख चिराग पासवान मधुबनी मास्क पहने नजर आए। तृणमूल कांग्रेस के कल्याण बनर्जी तथा कुछ सदस्य फेस शील्ड पहनकर सदन में पहुंचे। 

11:49 AM, 14th Sep
संसद के मानसून सत्र के पहले दिन, सोमवार को लोकसभा में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रख्यात शास्त्रीय गायक पंडित जसराज, वर्तमान लोकसभा के सदस्य एच वसंतकुमार और 13 पूर्व सदस्यों को श्रद्धांजलि देने के उपरांत सदन की कार्यवाही आरंभ होने के करीब 20 मिनट बाद एक घंटे के लिए स्थगित कर दी गई।

कोविड-19 महामारी की परिस्थिति के बीच सामाजिक दूरी और संबंधित दिशानिर्देशों की अनुपालना सुनिश्चित करते हुए सदन की कार्यवाही सुबह नौ बजे आरंभ हुई। सदन की बैठक आरंभ होने के साथ ही लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदस्यों को ‘भारत रत्न’ मुखर्जी, पंडित जसराज, वसंत कुमार और 13 पूर्व सदस्यों के निधन की सूचना दी।

इसके बाद सभा ने कुछ पल मौन रखकर इन दिवंगत हस्तियों को श्रद्धांजलि दी। सदन में कोविड-19 महामारी के दौरान अपने अपने दायित्व निर्वाह करते हुए जान गंवाने वाले कोरोना योद्धाओें को भी श्रद्धांजलि दी गई। फिर बिरला ने सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी।

11:48 AM, 14th Sep
webdunia
सत्र की शुरुआत‍ से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि मैं सभी सांसदों को अभिनंदन और धन्यवाद करता हूं। इस सत्र में कई महत्वपूर्ण निर्णय होंगे, अनेक विषयों पर चर्चा होगी। कोरोना से बनी जो परिस्थिति है उसमें जिन सतर्कताओं के विषय में सूचित किया गया है उन सतर्कताओं का पालन हम सबको करना ही करना है। और ये भी साफ है कि जब तक दवाई नहीं तब तक कोई ढिलाई नहीं।
 
लद्दाख में चीन से सीमा विवाद पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी सेना के वीर जवान हिम्मत के साथ, जज्बे के साथ, बुलंद हौसलों के साथ, दुर्गम पहाड़ियों में डटे हुए हैं। कुछ समय के बाद बर्फबारी भी शुरू होगी। ऐसे में पूरा सदन एक भाव से अपने वीर सैनिकों के साथ खड़ा है।
 
मोदी ने कहा कि कोरोना की स्थिति में जिन सतर्कताओं के बारे में सूचित किया गया है, उनका सबको पालन करना है। उन्होंने कहा आशा व्यक्त की कि जल्द से जल्द दुनिया के किसी भी कोने से टीका उपलब्ध हो और हमारे वैज्ञानिक जल्द से जल्द टीका बनाने में सफल हों।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

अच्छी खबर, रिकवरी रेट में ब्राजील से आगे निकला भारत, 37,80,107 लोगों ने दी कोरोना को मात