राष्ट्रपति के अभिभाषण पर PM मोदी का लोकसभा में संबोधन

गुरुवार, 6 फ़रवरी 2020 (14:05 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब दिया। पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति का अभिभाषण दिशा देने वाला है। पेश हैं भाषण के ताजा बिंदु-
- कांग्रेस और उसके जैसे दलों ने जिस दिन भारत को भारत की नजर से देखना शुरू किया, उस दिन उन्हें अपनी गलती का अहसास होगा। 
- सबने देखा दल के लिए कौन है और देश के लिए कौन हैं। 
- सीसीए विरोध में असली चेहरा दिखा। 
- अल्पसंख्यकों पर पाकिस्तान में जुल्म हुआ।
- कुछ लोगों ने कहा सीएए लाने की इतनी जल्दी क्यों की
- पाकिस्तान भी भारतीय मुसलमानों को गुमराह कर रहा है। 
- कैबिनेट प्रस्ताव पढ़ने वाले संविधान को समझें। 
- दशकों बाद भी पाकिस्तान का चरित्र नहीं बदला। 
- कांग्रेस पाकिस्तान की भाषा बोल रही है। हम पर हिन्दू-मुस्लिम करने का आरोप लगाया जा रहा है।
- कांग्रेस के लिए वो मुसलमान, मेरे लिए भारतीय हैं। खान अब्दुल गफ्फार खां के पैर छुए।
- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शाहीन बाग का अप्रत्यक्ष जिक्र करते हुए कहा कि इस प्रदर्शन को किसका समर्थन हासिल है। ये उन्हें पता है। पीएम मोदी ने एक शायर का जिक्र करते हुए कहा कि 
ख़ूब पर्दा है, कि चिलमन से लगे बैठे हैं।
साफ़ छुपते भी नहीं, सामने आते भी नहीं!!
ये पब्लिक सब जानती है। समझती है।
- पीएम ने कहा कि एनएसी के जरिए रिमोट कंट्रोल सरकार कौन लेकर आया, जिसका सरकार चलाने में पीएम और पीएमओ से बड़ा रोल था। भारत के लोग देख रहे हैं कि देश में संविधान के नाम पर क्या हो रहा है।
- प्रधानमंत्री ने कहा कि वे संविधान बचाओ का जिक्र करने वाले लोगों से पूछना चाहते हैं कि देश में आपातकाल किसने लागू किया। न्यायपालिका की गरिमा पर आघात किसने पहुंचाया। संविधान में सबसे ज्यादा संशोधन किसने किया। जिन लोगों ने ये सब किया है उन्हें संविधान को याद रखने की जरूरत है।
- पुराने तरीके पर चलते तो 70 साल बाद भी अनुच्छेद 370 नहीं हटता, राम जन्मभूमि आज भी विवादों में रहती
- ‘सरकार बदली है, सरोकार भी बदलने की जरूरत है, एक नई सोच की जरूरत है, हमने पुराने तरीके पर चलने की आदत बदली’ पुरानी लीक पर चलते तो मुस्लिम बहनों को तीन तलाक की तलवार डराती रहती, राम जन्मभूमि आज भी विवादों में रहती।
- कांग्रेस के लोग रोज संविधान बचाने की बात कहते हैं। कांग्रेस को दिन में 100 बार संविधान बचाओ, संविधान बचाओ जपना चाहिए। संविधान के नाम पर देश में बहुत कुछ हो रहा है। जिन्होंने दर्जनों बार चुनी हुई सरकार बर्खास्त की वे संविधान बचाने की बात करते हैं। इमरजेंसी को याद करें।
- 20 साल से गालियां सुन रहा हूं अपमान झेलने की आदत हो गई है। इतना अपमान झेला है कि अब आदत हो गई है। 
- उल्लेखनीय है कि कल राहुल गांधी ने कहा था कि पीएम मोदी 6 माह बाद घर से निकल नहीं पाएंगे, युवाओं के डंडे पड़ेंगे।
- अब मैं सूर्य नमस्कार की संख्या बढ़ा दूंगा, सूर्य नमस्कार करके पीठ मजबूत करूंगा।
- राहुल गांधी के 'डंडे खाने' वाले बयान पर कहा- 6 महीने में डंडे मारने की बात सुनी, डंडे खाने के लिए पीठ मजबूत करूंगा।
- एफडीआई 26 बिलियन डॉलर को पार कर गया।
- मैं विपक्ष को बेरोजगार नहीं होने दूंगा। विपक्ष को पता है मैं ही काम करूंगा। 
- हमने महंगाई को काबू में रखा। वित्तीय घाटे को बढ़ने नहीं दिया।
- कांग्रेस की सोच से चलते तो शत्रु संपत्ति का भी इंतजार रहता है।
- यहां स्वामी विवेकानंद के कंधे से बंदूकें चलाई गईं। 
- जो उन्हें जैसा समझ पाता है वैसा ही बयान देता है। 
- इस बार के बोडो समझौते में सभी हथियार बंद ग्रुप साथ आए हैं।
- समझौते में लिखा है कि बोडो की कोई मांग बाकी नहीं रही है।
- आज नई सुबह भी आई है, नया सवेरा भी आया है, नया उजाला भी आया है। 
- नॉर्थ ईस्ट अब दरवाजे पर आकर खड़ी हो गई है।  
- चाहे बिजली की बात हो, रेल की बात हो, हवाई अड्डे की बात हो, मोबाइल कनेक्टिविटी की बात हो, ये सब करने का हमने प्रयास किया है।
- अगर हम कांग्रेस की राह चलते तो शत्रु संपत्ति कानून नहीं बनते। चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ की नियुक्ति नहीं होती। हम अपने लिए नई लीक बनाकर चलते हैं और वह सोच लीक से हटकर होती है।
- हम कांग्रेस के रास्ते चलते तो आज 50 साल के बाद भी शत्रु संपत्ति का इंतजार देश को करते रहना पड़ता। 28 साल के बाद बेनामी संपत्ति कानून लागू नहीं होता।
- पुरानी सोच होती तो तीन तलाक से मुक्ति नहीं मिलती।
- पुरानी सोच होती तो अयोध्या केस नहीं सुलझता।
- हम पुराने तरीके से चलते तो बदलाव नहीं आता।
- हमने सरकार ही नहीं बदली, सरोकार बदला। 
- गांधीजी हमारे लिए जिंदगी हैं। गांधीजी आपके लिए ट्रेलर हो सकते हैं।
- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कवि सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की कुछ पंक्तियां पढ़ीं।
- कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि ये तो ट्रेलर है। इस पर पीएम ने कहा कि गांधी आपके लिए ट्रेलर हो सकते हैं, हमारे लिए तो जिंदगी हैं।
- पीएम जब लोकसभा में आए तो सत्ता पक्ष के सांसदों ने जय श्रीराम के नारे लगाए। इसके जवाब में विपक्ष के सांसदों ने महात्मा गांधी की जय के नारे लगाए।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख INDvsENG T20 : भारतीय महिला क्रिकेट टीम को इंग्लैंड के खिलाफ अपनी बल्लेबाजी में सुधार करना होगा...