क्या कहता है गोवा में आंकड़ों का सियासी गणित, कांग्रेस ने पेश किया दावा

सोमवार, 18 मार्च 2019 (11:31 IST)
गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद गोवा में सियासी संकट गहरा गया है। बीजेपी इस सियासी संकट को सुलझाने के फॉर्मूला निकाल रही है, वहीं दूसरी तरफ खबरें आ रही हैं कि कांग्रेस ने भी सरकार बनाने का दावा करते हुए चिट्ठी राज्यपाल को सौंप दी है। सूत्रों के मुताबिक भाजपा की तरफ से प्रमोद सांवत गोवा के नए मुख्यमंत्री हो सकते हैं।
 
आंकडों की बात करें तो कुल 40 सदस्यीय विधानसभा में कुल 36 सदस्य हैं। राज्य की तीन सीटों शिरोदा, मंडेरम और मपूसा के लिए 23 अप्रैल को मतदान होगा। भाजपा के 12 विधायक हैं, जबकि गोवा फॉरवर्ड के 3 और एमजीपी 3 हैं। कांग्रेस के 14 विधायक हैं, 3 निर्दलीय और एनसीपी का 1 विधायक है।
 
गैर कांग्रेसी विधायक हैं संपर्क में : गोवा प्रदेश अध्यक्ष गिरीश चोंडाकर ने दावा किया कि पार्टी राज्य में सरकार बनाने की दिशा में काम कर रही है और इसके लिए कई गैर कांग्रेसी विधायक उसके संपर्क में हैं।
 
कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद चोंडाकर ने कहा कि हमार पास कुछ रणनीति हैं और हमें आशा है कि राज्यपाल द्वारा हमें शीघ्र सरकार बनाने का निमंत्रण दिया जाएगा, क्योंकि हमारे पास सरकार बनाने के लिए विधायकों की पर्याप्त संख्या बल है। हम कई विधायकों के संपर्क में हैं।
 
कांग्रेस ने इसके पहले 40 सदस्य विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में सरकार बनाने की दावेदारी पेश की। राज्यपाल मृदुला सिन्हा को सौंपे पत्र में विपक्षी दल के नेता चंद्रकांत ‘बाबू’ कावलेकर ने कहा है कि मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन से भारतीय जनता पार्टी सरकार का गठबंधन खत्म हो गया, क्योंकि उसके सहयोगी दलों ने इस शर्त पर समर्थन दिया था कि पर्रिकर गठबंधन का नेतृत्व करेंगे।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख प्रयागराज में पूजा-अर्चना के बाद प्रियंका गांधी की गंगा यात्रा का आगाज