Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए जापान रवाना हुए मोदी

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 26 सितम्बर 2022 (22:43 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सोमवार को जापान की यात्रा पर रवाना हो गए, जहां वह 27 सितंबर को जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में हिस्सा लेंगे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए टोकियो रवाना हुए।
 
बागची ने ट्वीट किया कि भारत ने जापान के पूर्व प्रधानमंत्री आबे के सम्मान में 9 जुलाई 2022 को 1 दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की थी। प्रधानमंत्री मोदी की यह यात्रा उनकी स्मृति को नमन करने का अवसर होगी।
 
इससे पूर्व प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ट्वीट में कहा कि मैं पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए आज (सोमवार) रात टोकियो जा रहा हूं। उन्होंने आबे को एक प्रिय मित्र और भारत-जापान मित्रता का बड़ा हिमायती बताया। प्रधानमंत्री ने कहा कि वे प्रधानमंत्री किशिदा और श्रीमती आबे से मुलाकात कर सभी भारतीयों की ओर से शोक-संवेदना प्रकट करेंगे। उन्होंने कहा कि हम आबे की दृष्टि के अनुरूप भारत-जापान संबंधों को और मजबूत बनाने के लिए काम करना जारी रखेंगे।
 
विदेश सचिव विनय मोहन क्वात्रा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि करीब 12 से 16 घंटे की इस यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी अपने जापानी समकक्ष फुमियो किशिदा के साथ मुलाकात और द्विपक्षीय बैठक करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी इस यात्रा के दौरान श्रीमती आबे से मिलेंगे और निजी तौर पर शोक प्रकट करेंगे।
 
ज्ञात हो कि जापान के सबसे अधिक समय तक प्रधानमंत्री रहे शिंजो आबे की 8 जुलाई को देश के पश्चिमी इलाके में चुनावी कार्यक्रम के दौरान एक हमलावर ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। क्वात्रा ने बताया कि जापान के प्रधानमंत्री किशिदा ने इस वर्ष मार्च में भारत की यात्रा की थी और प्रधानमंत्री मोदी मई में क्वाड की बैठक में हिस्सा लेने वहां गए थे।
 
उन्होंने बताया कि इस वर्ष भारत-जापान राजनयिक संबंधों की 70वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है और ऐसे में दोनों नेताओं को अपने विशेष सामरिक गठजोड़ को और प्रगाढ़ बनाने को लेकर बातचीत करने का अवसर मिलेगा। विदेश सचिव ने कहा कि भारत और जापान के संबंध लगातार मजबूत हो रहे हैं और दोनों देशों के बीच कारोबार एवं निवेश, रक्षा एवं सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, ऊर्जा, आधारभूत ढांचा, औद्योगिक विकास, मानव संसाधन के क्षेत्र में करीबी सहयोग है।
 
उन्होंने कहा कि इस यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी और जापानी प्रधानमंत्री के बीच संक्षिप्त द्विपक्षीय बैठक होगी जिसमें दोनों पक्षों से संबंधित लोग मौजूद होंगे। क्वात्रा ने बताया कि जापान के पूर्व प्रधानमंत्री आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने के लिए 20 शासनाध्यक्षों सहित 100 देशों के प्रतिनिधि मौजूद होंगे।
 
यह पूछे जाने पर कि क्या प्रधानमंत्री मोदी और किशिदा के बीच बुलेट ट्रेन परियोजना को लेकर बातचीत होगी? क्वात्रा ने कहा कि इस बैठक में दोनों पक्ष द्विपक्षीय संबंधों और इनकी प्रगति के बारे में चर्चा एवं समीक्षा करेंगे और इसे किसी एक विषय तक सीमित करना ठीक नहीं होगा।
 
आबे के साथ प्रधानमंत्री मोदी के करीबी संबंधों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि भारत ने जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के सम्मान में 1 दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की थी। उन्होंने कहा कि आबे के निधन पर शोक प्रकट करते हुए मोदी ने उन्हें 'प्रिय मित्र' बताया था और कहा था कि जापान के पूर्व प्रधानमंत्री ने दुनिया को बेहतर स्थान बनाने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

बांग्लादेश में हिन्दू श्रद्धालुओं से भरी नाव पलटी, 49 लोगों की मौत, कई लापता