पुलवामा आतंकवादी हमला, देश में गुस्सा भड़का, हमें चाहिए बदला...

गुरुवार, 14 फ़रवरी 2019 (18:28 IST)
जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ की बस पर हुए एक आतंकी हमले में 18 जवान शहीद हो गए। इस  हमले के बाद देशभर में काफी गुस्सा दिखाई दे रहा है। लोग चाहते हैं कि सजिर्कल स्ट्राइक के माध्यम से एक बार फिर इस कायराना हरकत का बदला लिया जाना चाहिए। 
 
पूर्व सैन्य अधिकारी मेजर जनरल जीडी बख्शी ने टीवी चैनल पर अपने गुस्से का इजहार करते हुए कहा कि एक नहीं 10 सर्जिकल स्ट्राइक होने चाहिए। बख्शी ने गुस्से में कहा कि भारत को पाकिस्तान से बातचीत करने का वक्त खत्म हो गया है। पाकिस्तान को शर्म नहीं आती? वह बातचीत को आगे करके पलटवार कर रहा है। हमारे बेकसूर जवान मारे जा रहे हैं।
 
बख्शी ने कहा कि उरी के बाद जिस तरह भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक किए थे, वैसे सर्जिकल स्ट्राइक तो 10 होने थे। उन्होंने कहा कि सिर्फ एक सर्जिकल स्ट्राइक के बाद हम शांत हो गए। हम कहीं ना कहीं कहीं कमजोर हुए हैं। अब सिर्फ बातचीत से काम नहीं होने वाला है। 
 
बख्शी ने आक्रोशित होकर कहा कि 18 शहीद जवानों की लाशों का कौन जवाबदार है? भारतीय जवानों का खून इतना सस्ता नहीं है। यदि हमें दुश्मन की खोपड़ी तोड़नी पड़े तो हम तोड़ेंगे। पाकिस्तान को इस हमले की बहुत भारी कीमत चुकानी होगी। बख्शी ने कहा कि हम गांधी जी की प्रतिमा दिखाते हैं और अहिंसा का पाठ पठाते हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं होना चाहिए। अब सेना को पलटवार करना होगा। पाकिस्तान ने यह बहुत गलत टाइम चुना है। देश की सरकार इसके जिम्मेदार है। 
 
उन्होंने सवाल किया कि गोला-बारूद से भरी कार क्यों नहीं चेक की गई? मेहबूबा मुफ्ती पर आरोप लगाया कि गाड़ी चेक किए जाने पर कश्मीर में कोर्ट मार्शल कर दिया जाता रहा है, लेकिन दिल्ली में गाड़ियां चेक करने की पूरी छूट है। जैश ए मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद डार की विस्फोटक से भरी कार क्यों नहीं चेक हुई?
 
बख्शी ने कहा कि हमले का खामियाजा हमारे जवानों और उनके परिवार को भुगतना पड़ता है। उन्होंने कहा कि फौज को अपना काम करने दीजिए। सफेद कबूतर उड़ाने वालों को उन्होंने आड़े हाथों लेते हुए आरोप लगाया कि देश में गद्दारों की कमी नहीं है।
 
...और राजनीति भी शुरू : कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आतंकी हमले के बाद मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि पिछले 5 साल में 17वां बड़ा आंतकी हमला था, जिसमें देश के दर्जन भर से ज्यादा जवान शहीद हुए हैं। इसी बीच सीआरपीएफ की तरफ से अधिकारिक जानकारी में बताया कि इस काफिले में 2547 जवान थे जो 78 गाड़ियों में सवार थे। सीआरपीएफ ने शहीद जवानों और घायल जवानों की संख्या का खुलासा नहीं किया है।
 
सोशल मीडिया पर भी गुस्सा : सोशल नेटवर्किंग साइट ट्‍विटर पर भी इसी तरह की प्रतिक्रिया दिखाई दे रही है। अक्षय शर्मा ने ट्वीट कर कहा कि एक भारतीय के नाते, उरी में पदस्थ एक सैनिक के भाई के नाते मैं नरेंद्र मोदी को बदला लेने का ऑर्डर देता हूं। चुनाव आने वाले हैं, अगर मोदी ने  ऐसा नहीं किया तो मैं नोटा को वोट दूंगा। 
 
संदीप नौटियाल ने अरविंद केजरीवाल के ट्वीट के जवाब में कहा कि कौन सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांग रहा था? कौन पत्थरबाजों के लिए लड़ रहा था? टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ कौन है? ब्लैक लिपस्टिक ने ट्वीट कर कहा कि मोदीजी पाकिस्तान में स्थित सभी आतंकी कैंपों को तबाह कर दो। फिर सर्जिकल स्ट्राइक करो।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख मेरा खून खौलता है, खून की एक-एक बूंद का हिसाब लेंगे...