Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

राहुल गांधी बोले- भारत को एक मानचित्र के रूप में देखते हैं BJP और RSS, कांग्रेस देखती है इस रूप में...

हमें फॉलो करें webdunia
गुरुवार, 30 सितम्बर 2021 (00:23 IST)
मलाप्पुरम/ कोझिकोड (केरल)। भाजपा और आरएसएस भारत को भौगोलिक क्षेत्र या एक मानचित्र के रूप में देखते हैं लेकिन कांग्रेस देश को यहां के लोगों और उनके बीच तथा दुनिया के साथ उनके संबंध के तौर पर देखती है। यह बात बुधवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं वायनाड के सांसद राहुल गांधी ने कही।

उन्होंने कहा, कुछ लोग भारत को मानचित्र के रूप में देखते हैं। वे इसे सीमाओं से घिरे स्थान के रूप में देखते हैं। यह भाजपा का दृष्टिकोण है। हमारा (कांग्रेस) दृष्टिकोण अलग है। भारत के लिए हमारा दृष्टिकोण यहां के लोग एवं दूसरों के साथ उनके संबंध हैं।

राहुल ने कहा, हमारे लिए भारत मानचित्र नहीं है, यह महज सीमा रेखा से घिरा क्षेत्र नहीं है, यहां रहने वाले लोगों के बारे में है। हम अपने अंदर भारत रखते हैं। यह अंतर है कि किस तरह से आरएसएस और भाजपा भारत को देखती है और किस तरह से कांग्रेस भारत को देखती है।

वह केरल के कोझिकोड जिले में वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक मनोरंजन स्थल का उद्घाटन करने के अवसर पर बोल रहे थे। केरल में एक दिन के दौरे पर आए कांग्रेस सांसद ने कहा कि यहां के लोग जब विदेश जाते हैं तो लोग भारत के मूल्यों, संस्कृति और परंपराओं को उनके माध्यम से देखते हैं और इस तरह से हम अपने देश को हर स्थान पर अपने साथ ले जाते हैं।
ALSO READ: मनीष सिसोदिया ने गांधीनगर निकाय चुनाव में भरी हुंकार, रोड शो में उमड़ा जनसैलाब
उन्होंने कहा कि कुछ लोग भारत को नफरत, गुस्सा, अविश्वास और हिंसा के रूप में पेश कर गुमराह करते हैं लेकिन हम ऐसा नहीं करते। इससे पहले केरल के मलाप्पुरम जिले में एक डायलिसिस केंद्र का उद्घाटन करते हुए कांग्रेस नेता ने इसी तरह के विचार व्यक्त किए और कहा कि वीडी सावरकर जैसे लोगों ने भारत को भौगोलिक क्षेत्र में रूप में वर्णित किया।
ALSO READ: पंजाब में सियासी उठापटक के बीच दिल्ली जाएंगे CM शिवराज सिंह, राजनीतिक गलियारों में अटकलों का बाजार गर्म...
राहुल ने कहा, वे एक मानचित्र खींचेंगे और कहेंगे कि सीमा के अंदर भारत है और जो बाहर है वह नहीं है। मेरे लिए भारत यहां के लोग और दूसरों के साथ उनके संबंध ही भारत है।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

अयोध्या के उदासीन आश्रम में मन रहा है गुरु पर्व महोत्सव