Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

भाजपा को कर्नाटक को नफरत और कुशासन की प्रयोगशाला नहीं बनाने देंगे : राहुल गांधी

हमें फॉलो करें webdunia
रविवार, 23 अक्टूबर 2022 (18:20 IST)
बेंगलुरु। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी को नफरत और कुशासन के प्रयोगों के लिए कर्नाटक को प्रयोगशाला में बदलने की अनुमति नहीं देगी। राहुल ने उम्मीद जताई कि उनकी पार्टी प्रेम, शांति और सद्भाव के जरिए कर्नाटक की वास्तविक क्षमता को सामने लाएगी। 'भारत जोड़ो यात्रा' रविवार को तेलंगाना में प्रवेश कर गई।

‘भारत जोड़ो यात्रा’ के कर्नाटक चरण की समाप्ति पर राहुल ने एक बयान में कहा, कांग्रेस पार्टी शांति के इस उद्यान को भाजपा के नफरत और कुशासन के प्रयोगों की प्रयोगशाला नहीं बनने देगी। ‘भारत जोड़ो यात्रा’ रविवार को तेलंगाना में प्रवेश कर गई।

राहुल ने कहा, हमारे प्रदेश नेताओं के अथक प्रयास से, कर्नाटक की समृद्ध संस्कृति और करोड़ों कन्नड़ लोगों के समर्थन से प्रेरित हो वह दिन जल्द ही आएगा जब हम प्रेम, शांति और सद्भाव के मार्ग के जरिए कर्नाटक की वास्तविक क्षमता को सामने लाएंगे।

कर्नाटक में अपनी पूरी यात्रा के दौरान मिले व्यापक समर्थन के लिए लोगों का आभार जताते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि उन्होंने यहां के लोगों की क्षमता को क्षीण होते हुए देखा है। वायनाड से सांसद राहुल ने कहा कि बढ़ती लागत, अनिश्चित पैदावार और कीमतों में उतार-चढ़ाव के चलते हर क्षेत्र के किसान अपने परिवारों का भरण-पोषण करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि युवाओं को बार-बार प्रयास करने के बावजूद अपनी आकांक्षाओं को पूरा करने वाले अवसर नहीं मिल पा रहे हैं, जबकि छोटे उद्यम अपर्याप्त समर्थन या समर्थन न मिलने के कारण बंद हो रहे हैं और एक ऐसा बाजार अस्तित्व में है, जो कुछ बड़े खिलाड़ियों के पक्ष में झुका हुआ है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने आरोप लगाया, मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना) मजदूरों, महिलाओं, बुनकरों और कई अन्य की कमाई घटती जा रही है। समाज के वंचित वर्ग और अल्पसंख्यकों को नफरत और हिंसा के बढ़ते ज्वार का सामना करना पड़ रहा है। भाषाओं, विविध संस्कृतियों और राज्य के इतिहास को विकृत एवं नष्ट किया जा रहा है।

उन्होंने भाजपा पर कर्नाटक में लिंगायत संप्रदाय के संस्थापक और 12वीं सदी के समाज सुधारक बसवेश्वर की शिक्षाओं के खिलाफ जाने का आरोप लगाया। राहुल ने कहा कि गुरु बसवन्ना ने सिखाया था ‘चोरी मत करो, हत्या मत करो, झूठ मत बोलो, क्रोध मत करो, दूसरों के प्रति असहिष्णु मत बनो’, लेकिन भाजपा ने कर्नाटक में उनकी शिक्षाओं के बिलकुल विपरीत काम किया है।

उन्होंने कहा, कभी भारत की विकास गाथा का नेतृत्व करने वाला राज्य अब ‘40 प्रतिशत कमीशन’ खाने वाली सरकार के लिए जाना जाता है, जो भाजपा के ‘सूट, बूट, लूट सरकार’ मॉडल का उदाहरण है। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि कर्नाटक में भ्रष्टाचार अप्रत्याशित स्तर पर व्याप्त है और लोगों को नौकरी, ठेकों और सरकारी सेवाओं का लाभ लेने के लिए रिश्वत देनी पड़ रही है।

उन्होंने कहा, कर्नाटक में भाजपा के लिए ऐसा कुछ भी नहीं है, जिसे बेचा नहीं जा सकता है। सामाजिक सद्भाव और सार्वजनिक क्षेत्र का क्षरण आर्थिक प्रगति को पंगु बना रहा है और गरीब एवं कमजोर इसकी सबसे ज्यादा मार झेल रहे हैं।

सात सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से भारत जोड़ो यात्रा की शुरुआत करने वाले राहुल गांधी ने 30 सितंबर को कर्नाटक में प्रवेश किया था। राज्य में 24 दिनों की पदयात्रा के बाद वह रविवार को महबूबनगर के रास्ते तेलंगाना में पहुंचे।(भाषा)
Edited by : Chetan Gour 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

PM मोदी पर CM केजरीवाल का निशाना, बोले- 'रेवड़ी' को लेकर जनता का अपमान मत कीजिए