रेलवे ने बुजुर्गों, महिलाओं के लिए निचली सीटों का कोटा बढ़ाया

गुरुवार, 27 दिसंबर 2018 (21:38 IST)
नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने बुज़ुर्गों तथा गर्भवती एवं 45 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं को नए साल का तोहफा देते हुए उनके लिए आरक्षित कोचों में नीचे वाली बर्थों का कोटा बढ़ा दिया है।
 
 
रेल मंत्रालय की प्रवक्ता स्मिता शर्मा वत्स ने यहां बताया कि वरिष्ठ नागरिकों, गर्भवती एवं 45 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं को स्लीपर कोच में 6 तथा एसी-2 एवं एसी-3 कोचों में नीचे वाली 3-3 बर्थों का कोटा निर्धारित था।

रेल मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि अब स्लीपर कोच में 6 की बजाय 7, एसी-3 में 3 की जगह 4 और एसी-2 में अगर एक से अधिक कोच हैं, तो हर कोच में 3 की बजाय 4 बर्थ आरक्षित रहेंगी। अगर एसी-2 का एक ही कोच होगा तो पूर्ववत 3 बर्थ ही आरक्षित होंगी।
 
स्मिता ने कहा कि उपरोक्त वर्ग के यात्रियों के लिए राजधानी एवं दूरंतो एक्सप्रेस गाड़ियों में एसी-3 कोच में 4 की बजाय 5 और एसी-2 में 3 की बजाय 4 निचली बर्थ आरक्षित की गई हैं। उन्होंने बताया कि यह निर्णय एक सप्ताह में लागू हो जाएगा और नए साल से यात्री इसका लाभ उठा सकेंगे।
 
रेलवे ने इसी माह हर उम्र की महिलाओं के लिए कोचों में अलग से भी कोटा निर्धारित किया है। उपरोक्त श्रेणी के अलावा रेलवे ने सभी राजधानी, दूरंतो एवं पूरी तरह वातानुकूलित ट्रेनों के एसी-3 कोचों में महिला कोटे में 6 बर्थ आवंटित की हैं। इसका लाभ सभी महिलाओं को मिलेगा, चाहे वे किसी भी आयु की हों और अकेले यात्रा करें या समूह में। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख रिकी पोंटिंग की भविष्यवाणी, पुजारा के कारण भारत गंवा सकता है मेलबोर्न टेस्ट