हिज्बुल कमांडर रियाज नायकू समेत 6 आतंकी ढेर, मोबाइल-इंटरनेट बंद, मुठभेड़ स्थलों पर पत्थरबाजी

सुरेश एस डुग्गर

बुधवार, 6 मई 2020 (18:00 IST)
जम्मू। कश्मीर में सुरक्षाबलों ने आज सफलता के झंडे गाढ़ते हुए हिज्बुल मुजाहिदीन के उस शीर्ष कमांडर और ‘मास्टरजी’ रियाज नायकू को ढेर कर दिया जो 2012 से आतंकवाद की राह पर चल रहा था और इतने सालों से सुरक्षाबलों के हाथों से बच रहा था।

2016 के जुलाई महीने में हिज्बुल मुजाहिदीन के ही पोस्टरबॉय बुरहान वानी की मौत के बाद युवकों को भर्ती कर उन्हें आतंकवाद की राह पर लाने वाले नायकू को आतंकवादियों का मास्टरजी भी कहा जाता था। आज हुई मुठभेड़ों में कुल 6 आतंकी मारे गए।

इनमें दो नायकू के खास साथी थे जिनकी फिलहाल सुरक्षाबलों ने पहचान उजागर नहीं नहीं की है जबकि एक को जिंदा पकड़ लिया गया। नायकू की मौत के बाद कश्मीर में जबर्दस्त तनाव को देखते हुए इंटरनेट सेवा बंद करने के साथ ही मोबाइल फोनों को भी बंद कर दिया गया है।

प्रमुख शहरों और कस्बों में अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है जबकि मुठभेड़ स्थल पर सैंकड़ों की संख्या में एकत्र हुए पत्थरबाजों से भी जूझना पड़ रहा था।
 
कश्मीर में आज तीन स्थानों पर होने वाली मुठभेड़ों में हिज्बुल मुजाहिदीन के शीर्ष और 12 लाख के इनामी आतंकी कमांडर रियाज नायकू समेत 6 आतंकी मारे गए।

अवंतीपोरा और पुलवामा में सुबह से सुरक्षाबलों की आतंकियों संग हुई मुठभेड़ में अब तक 6 आतंकियों के मारे जाने की सूचना है। उधर घाटी में बढ़ती आतंकी घटनाओं को देखते हुए फिलहाल मोबाइल इंटरनेट सेवा और मोबाइल पर वॉइस कॉलिंग की सेवा भी बंद कर दी गई है। कश्मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने नायकू के मारे जाने की पुष्टि की है।
 
दक्षिण कश्मीर के अवंतीपोरा में हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर के पैतृक गांव बेगीपोरा में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ दोपहर बाद तक जारी रही। मुठभेड़ में नायकू के दो अन्य साथी भी मारे गए पर उनकी पहचान फिलहाल जाहिर नहीं की गई है। जानकारी के मुताबिक मारे गए उसके दोनों साथी भी टॉप के आतंकी बताए जाते हैं।
अवंतीपोरा में जारी इन दोनों मुठभेड़ों में हिज्ब कमांडर के मारे जाने की सूचना घाटी में फैलते ही सोशल साइट पर इसको लेकर दुष्प्रचार शुरू हो गया था। कश्मीर घाटी में सक्रिय शरारती और राष्ट्र विरोधी तत्व इंटरनेट की विभिन्न सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर लोगों को भड़काते हुए उन्हें मुठभेड़ स्थलों पर जमा करने का प्रयास कर रहे हैं। यह देख प्रशासन ने एहतियात के तौर पर घाटी में इंटरनेट मोबाइल सेवा व फोन कॉलिंग निलंबित कर दी थी।
 
जानकारी के मुताबिक मुठभेड़स्थलों पर सैंकड़ों की तादाद में पत्थरबाज एकत्र हो गए थे जो सुरक्षाबलों पर जबरदस्त पथराव कर रहे थे। उन्हें भगाने की खातिर सुरक्षाबलों को लाठियों व आंसू गैस का सहारा लेना पड़ा। इस बीच नायकू की मौत के बाद पूरी कश्मीर वादी में उपजे हालात को देखते हुए कश्मीर के प्रमुख कस्बों में अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया था और हाईअलर्ट जारी किया गया था।
 
इस बीच पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया और उसके पास से हथियार एवं गोला-बारूद बरामद किया गया। पुलिस के एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि मंगलवार देर रात को दक्षिण कश्मीर के इस जिले में त्राल इलाके के सतुरा गांव में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों ने सतुरा क्रॉसिंग पर आतंकवादी को उस समय पकड़ा जब उसकी गतिविधियां संदिग्ध पाई गईं। अधिकारियों ने बताया कि उससे पूछताछ करने पर सुरक्षाबलों ने एक एके-56 राइफल, पांच एके मैगजीन, 150 एके गोलियां, तीन चीनी हथगोले तथा दो मोबाइल फोन बरामद किए।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख रोनाल्डो पृथकवास में, आरोन रामसे अभ्यास शुरू करने वाले युवेंटस के पहले खिलाड़ी बनें