Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

समीर वानखेड़े क‍ी साली के ड्रग्स कनेक्शन पर बवाल, NCB अफसर का नवाब मलिक को जवाब...

webdunia
सोमवार, 8 नवंबर 2021 (14:18 IST)
मुंबई। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने सोमवार को एनसीबी के झोनल प्रमुख समीर वानखेड़े से सवाल किया कि क्या आपकी साली ड्रग व्यापार में शामिल है?
 
नवाब मलिक ने ट्वीट कर कहा कि समीर दाऊद वानखेड़े, क्या आपकी साली हर्षदा दीनानाथ रेडकर ड्रग कारोबार में शामिल हैं? आपको जवाब देना चाहिए क्योंकि उसका मामला पुणे की अदालत में लंबित है। ये रहा सबूत।
समीर वानखेड़े ने जवाब में कहा कि 2008 में उनकी साली हर्षदा दीनानाथ रेडकर का ड्रग केस सामने आया था। तब मैं नौकरी में ही नहीं था। समीर ने बताया कि उन्होंने हर्षदा की बहन क्रांति रेडकर से 2017 में शादी की थी।

इस बीच वानखेड़े के पिता द्वारा दायर मानहानि मामले में मुंबई हाईकोर्ट ने नवाब मलिक को मंगलवार तक जवाब दाखिल करने को कहा है। मामले में अगली सुनवाई 10 नवंबर को होगी।
 
इससे पहले मलिक ने रविवार को आरोप लगाया था कि NCB के मुंबई क्षेत्र के निदेशक समीर वानखेड़े अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को फिरौती के लिए ‘अगवा’ करने की साजिश में शामिल थे। भाजपा की युवा शाखा के मुंबई के पूर्व अध्यक्ष मोहित भारतीय इस साजिश के ‘मास्टरमाइंड’ थे।
 
उन्होंने दावा किया कि आर्यन खान के अपहरण का जाल मोहित भारतीय के रिश्तेदार ऋषभ सचदेवा के माध्यम से रचा गया था। उन्होंने दावा किया कि 25 करोड़ रुपए मांगे गए थे और सौदा 18 करोड़ रुपए में तय हुआ था... 50 लाख रुपए दिए गए थे। सौदे की बात बिगड़ गई क्योंकि केपी गोसावी (क्रूज ड्रग्स मामले में एनसीबी के गवाह) की आर्यन के साथ सेल्फी गिरफ्तारी के बाद वायरल हो गई।
 
मंत्री ने आगे कहा कि शाहरुख खान को यह कहकर डराने की कोशिश की गई है कि उन्होंने ‘50 लाख रुपए की राशि दी है’ इसलिए वह भी एक आरोपी बन गए हैं। पिछले महीने वानखेड़े के नेतृत्व में एक क्रूज पोत पर की गई छापेमारी के बाद आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था और पोत से कथित तौर पर मादक पदार्थ बरामद किया गया था। बाद में आर्यन को बंबई उच्च न्यायालय से जमानत मिल गई।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

देश में सबसे प्रदूषित शहरों में 8 यूपी के, पहले स्‍थान पर रहा वृंदावन