पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी से कांपा उत्तर भारत, वैष्णोदेवी में हुआ 'धवल श्रृंगार', देखें फोटो...

सोमवार, 14 जनवरी 2019 (11:37 IST)
पहाड़ी इलाकों में हो रही बर्फबारी से लोगों की मुसीबत बढ़ गई है। लोकप्रिय पर्यटन स्थलों शिमला, मनाली और डलहौजी में बर्फबारी के चलते चारों ओर बर्फ की चादर बिछी नजर आ रही है। इसके चलते कुछ अंदरुनी हिस्सों में सड़क मार्ग अवरुद्ध हो गया। पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी का असर मैदानी राज्यों में बढ़ गया है और यहां ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। वैष्णोदेवी और केदानाथ में बर्फबारी हो रही है और चारों ओर बर्फ की चादर बिछी हुई है। बर्फ का प्रकोप भी माता वैष्णोदेवी के भक्तों का उत्साह रोक नहीं सका है।

शिमला के आसपास के पर्यटन स्थलों जैसे कुफरी, चैल, फागू और नारकंडा में भी सामान्य बर्फबारी हुई, जिससे हिल स्टेशन बेहद खूबसूरत नजर आ रहे हैं। इसी तरह, मनाली, सोलांग और कल्पा में बर्फबारी हुई। चंबा जिले के डलहौजी में 30 सेंटीमीटर की बर्फबारी देखी गई।

मौसम विभाग के निदेशक के मुताबिक शिमला, कुल्लू, किन्नौर, लाहौल एवं स्पीति और चंबा जिलों में बर्फबारी हुई। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में मौसम ने करवट बदली। जिला मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्रों में जहां देर रात में बारिश होती रही, वहीं गंगोत्री, यमुनोत्री, हर्षिल, केदार कांठा, हरकीदून, सांकरी सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी हुई है।

उच्च हिमालय क्षेत्र गंगोत्री, हर्षिल, झाला, पुराली, सुक्की, गंगनानी, गौरशाली, दयारा, बार्सू, रैथल, डोडीताल, नचिकेता ताल सहित यमुना घाटी के यमुनोत्री धाम, जानकी चट्टी, खरसाली, हनुमान चट्टी व मोरी क्षेत्र के केदार कांठा, सांकरी, तालुका, जखोल, बरी, सेवा, दोणी भित्तरी, आदि उच्च हिमालय पर सटे गांव में जमकर बर्फबारी हुई है।

घाटी का प्रवेश द्वार माने जाने वाले दक्षिण कश्मीर के काजीगुंड शहर में न्यूनतम तापमान शून्य से 0.9 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया जबकि पास के कोकरनाग शहर में शनिवार रात न्यूनतम तापमान शून्य से 3.3 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया। उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा शहर में पारा शून्य से 1.5 डिग्री सेल्सियस नीचे तक गिर गया। उत्तरी कश्मीर के गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान शून्य से 9.0 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया जबकि पर्यटन स्थल पहलगाम में न्यूनतम तापमान शून्य से 2.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।

लेह में न्यूनतम तापमान शून्य से 6.5 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया जबकि द्रास में पारा शून्य से 9.7 डिग्री सेल्सियस कम रहा। कश्मीर में इस समय 40 दिनों तक चलने वाला 'चिल्लई-कलां का दौर चल रहा है जो सर्दी के मौसम की सबसे मुश्किल अवधि होती है और इस अवधि में बर्फबारी की संभावना सबसे अधिक होती है तथा तापमान काफी गिर जाता है।

मनाली में पारा शून्य से नीचे : हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में प्रसिद्ध पर्यटन स्थल मनाली में ताजा बर्फबारी हुई जिससे तापमान शून्य से 5 डिग्री नीचे पहुंच गया। मौसम विभाग के शिमला केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि रविवार को शाम साढ़े पांच बजे से रविवार सुबह साढ़े आठ बजे तक दो सेंटीमीटर ज्यादा बर्फबारी हुई।

उन्होंने बताया कि शिमला जिले के कुफरी और चंबा जिले के डलहौजी जैसे पर्यटन स्थलों में भी पारा शून्य के आसपास रहा और शीतलहर का प्रकोप जारी है। कुफरी एवं डलहौजी में न्यूनतम तापमान क्रमश: शून्य से 2.9 डिग्री नीचे और शून्य डिग्री दर्ज किया गया।

अधिकारी ने बताया कि जनजातीय बहुल जिले लाहौल एवं स्पीति का प्रशासनिक केंद्र केलांग राज्य का सबसे ठंडा स्थान बना हुआ है जहां तापमान शून्य से 12 डिग्री नीचे है। वहीं किन्नौर के कल्पा में न्यूनतम तापमान शून्य से 8.2 डिग्री सेल्सियस नीचे था। सिंह ने बताया कि राज्य की राजधानी शिमला तथा पालमपुर में न्यूनतम तापमान एक डिग्री सेल्सियस रहा।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING