पहाड़ों पर भीषण बर्फबारी से हिंदुस्तान बना 'बर्फिस्तान'

मंगलवार, 8 जनवरी 2019 (01:04 IST)
नई दिल्ली। पहाड़ों पर हो रही लगातार भयानक बर्फबारी से हिंदुस्तान के तीन राज्य बर्फिस्तान बन गए हैं। जम्म-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी ने पुराने सारे कीर्तिमान ध्वस्त कर दिए है। हिमाचल प्रदेश में जहां एक ओर पर्यटक बर्फबारी से फूले नहीं समाए, तो दूसरी तरफ रास्तों के जाम होने से उनकी सारी खुशियां काफूर हो गईं।
 
 
जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल में ऐसी कोई जगह नहीं बची, जहां बर्फबारी नहीं हुई हो। बर्फबारी के कारण देश के अधिकांश मैदानी इलाकों में ठंड की जबरदस्त मार से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
 
जम्मू और हिमाचल में ऊंचाई वाले क्षेत्रों में पिछले 3 दिनों से लगातार बर्फबारी हो रही है। कश्मीर घाटी ने बर्फ की सफेद चादर ओढ़ ली है। पहलगाम में माइनस 13, लेह में माइनस 12, गुलमर्ग में माइनस 11, श्रीनगर में माइनस 4 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान दर्ज किया गया।
जम्मू-कश्मीर के बड़गाम में तो इतनी बर्फ गिरी कि सड़क ढूंढें नहीं मिल रही है। हालांकि 27 जून 2013 से यहां शुरू हुई बड़गाम-बारामूला ट्रेन के 135 किलोमीटर के सफर में 17 रेलवे स्टेशनों को कवर करने के कारण यात्रियों के लिए लाइफलाइन साबित हो रही है।
 
उधर हिमाचल प्रदेश में कई स्थानों में पारा शून्य से नीचे चला गया है। बर्फबारी की वजह से वाहनों पर बर्फ की मोटी परतें जमा हो गई हैं। लाहौल स्पीति में पारा माइनस 12, केलेग में माइनस 8.4, किन्नौर में माइनस 8, डलहौजी में माइनस 4, मनाली में माइनस 3.6, कुफरी में माइनस 3, कुल्लु में पारा माइनस 2 डिग्री सेंटीग्रेड दर्ज हुआ।
 
कुल्लु में तो अब तक 70 सेंटीमीटर तक बर्फबारी हुई है। यहां इससे पहले कभी इतनी बर्फ नहीं पड़ी। लाहौल स्पीति में 2 पर्यटक पानी की तलाश में निकले थे लेकिन अब उनकी जान पर बन आई है। यहां मकानों, पेड़ों और वाहनों पर बर्फ जमी हुई है। डलहौजी के हालात तो काफी बदतर है यहां पर वाहन समाधि लेने 
की मुद्रा में खड़े है।
उत्तराखंड में भी बर्फबारी ने नए रिकॉर्ड स्थापित किए है। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है कि उत्तराखंड में आगामी 9 जनवरी तक ऐसी ही बर्फबारी जारी रहने वाली है। बद्रीनाथ धाम में पारा माइनस 12 और केदारनाथ में पारा माइनस 10 डिग्री सेंटीग्रेड दर्ज किया गया। केदारनाथ में भी 3 फीट बर्फ की परत जमा हो गई है। धनौटी में पारा माइनस 5 और उत्तरकाशी में पारा माइनस 3 चल रहा है।
 
पर्यटन स्थल औली का हाल भी बुरा है। यहां पर पारा माइनस 3 और अल्मोड़ा में माइनस 2.3 डिग्री सेंटीग्रेड है। गंगोत्री में पारा माइनस 5 और यमुनोत्री में पारा माइनस 4 चल रहा है। पूरा उत्तर भारत बर्फबारी के आगोश में है और लोगों की जिंदगी बंद कमरों में ठहर सी गई है। (वेबदुनिया न्यूज)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख दंगे के 20 साल पुराने मामले में सजा मिलने के बाद तमिलनाडु के मंत्री का इस्तीफा