श्रीनगर में 5 स्थानों पर आयकर का छापा, 19 करोड़ के अघोषित निवेश का पता चला

शुक्रवार, 29 मार्च 2019 (23:38 IST)
नई दिल्ली। आयकर विभाग ने जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर और उसके आसपास 5 स्थानों पर गुरुवार को तलाशी ली जिसमें 11 करोड़ रुपए के वित्तीय लेन-देन और अचल संपत्ति में 19 करोड़ रुपए के अघोषित निवेश का पता चला है।
 
विभाग ने शुक्रवार को यहां जारी बयान में कहा कि तलाशी के दौरान पाया गया कि फल एवं सब्जी विक्रेताओं के पुनर्वास के लिए श्रीगनर विकास प्राधिकरण द्वारा निर्मित 76 दुकानें बनाई गई थीं जिसे दबाव में आकर और बहुत ऊंची कीमतों पर बेचा गया। जिन लोगों के यहां तलाशी ली गई, उनमें सब्जी विक्रेता संघ के स्वयंभू अध्यक्ष बातामालू भी शामिल है। दुकानों की खरीद बेच में कालेधन का उपयोग किया गया था।
 
यह पाया गया है कि इस बाजार की पहली मंजिल पर 4 दुकानें एक ही व्यक्ति को संघ के कथित अध्यक्ष ने 1.09 करोड़ रुपए में बेची थीं जिसके लिए 9 लाख रुपए का चेक से भुगतान किया गया था जबकि शेष 1 करोड़ रुपए की नकदी दी गई थी। इन दुकानों को बेचने से मिले कालेधन से उस कथित अध्यक्ष ने परिम्पोरा के न्यू फ्रुट कॉम्प्लेक्स में 3 मंजिला होटल सह शॉपिंग परिसर का निर्माण किया। इसके साथ ही दूसरे रियल एस्टेट भी बनाए गए।
 
एक अन्य तलाशी में पता चला कि 86 कनाल भूमि ऊंची दर पर एक स्थानीय शक्तिशाली व्यक्ति को बेची गई। यह लेन-देन पूरी तरह से अघोषित आय से हुआ। इससे जुड़े दस्तावेज जब्त किए गए हैं। इस भूमि को बेचने से मिली राशि से कर चोर ने कबाड़ी और प्लास्टिक क्रशिंग इकाई लगाई और इससे अर्जित आय को कभी भी कर के दायरे से बाहर रखा गया। जिन लोगों के यहां तलाशी ली गई है, उन्होंने कभी भी आयकर रिटर्न नहीं भरा है। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख पवित्र रिश्ते हुए तार-तार, बहन के साथ बलात्कार के आरोपी 3 भाई गिरफ्तार