Republic Day : दिल्ली में चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा, ड्रोन और चेहरा पहचान प्रणाली से होगी संदिग्धों की पहचान

शनिवार, 25 जनवरी 2020 (22:56 IST)
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 71वें गणतंत्र दिवस समारोह के लिए बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है, जिसके तहत हजारों सशस्त्रकर्मी कड़ी निगरानी रखेंगे। इस बार के गणतंत्र दिवस के लिए ब्राजील के राष्ट्रपति जायेर बोलसोनारो मुख्य अतिथि हैं। दिल्ली पुलिस द्वारा गणतंत्र दिवस समारोह के लिए किए गए इंतजामों में चेहरा पहचान प्रणाली और ड्रोन का इस्तेमाल शामिल है। इस मौके के लिए 10 हजार सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है।

पुलिस उपायुक्त (नई दिल्ली क्षेत्र) ई. सिंघल ने बताया कि ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो की सुरक्षा के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं, जो गणतंत्र दिवस परेड के लिए मुख्य अतिथि हैं। अधिकारियों ने बताया कि रविवार को राजपथ से लालकिले तक के 8 किलोमीटर लंबे परेड मार्ग पर नजर रखने के लिए ऊंची इमारतों पर शार्पशूटर और स्नाइपर तैनात किए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था के तहत सैकड़ों सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। इसमें से कम से कम 150 कैमरे लालकिला, चांदनी चौक और यमुना खादर में लगाए गए हैं। सिंघल ने कहा, हमने 4 स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की है। भीतरी, मध्य, बाहरी और राष्ट्रीय राजधानी के बाहर सीमांत क्षेत्रों में। उन्होंने कहा कि ड्रोन भी तैनात किए जाएंगे।

उन्होंने कहा, दिल्ली पुलिस के 5 हजार से 6 हजार कर्मी नई दिल्ली में तैनात किए गए हैं। साथ ही अर्द्धसैनिक बलों की 50 हजार कंपनियां भी तैनात की गई हैं। राजपथ के मुख्य क्षेत्र को रविवार को दोपहर 12 बजे तक बंद रखा जाएगा। संदिग्धों की पहचान के लिए प्रमुख बिंदुओं पर चेहरा पहचान प्रणाली लगाई जाएगी। आयोजन स्थल तक दर्शक और आगंतुक के बाधारहित आवागमन के लिए 2 हजार से अधिक यातायात पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। पुलिसकर्मियों को अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया है क्योंकि दिल्ली में चुनाव भी नजदीक हैं।

अधिकारियों ने कहा कि आतंकवाद निरोधक उपाय किए जा रहे हैं, जैसे किराएदारों और घरेलू सहायकों की पहचान, सीमा पर जांच, महत्वपूर्ण स्थलों, मॉल और बाजार की सुरक्षा, भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में गश्त। पुलिस ने होटल, टैक्सी और ऑटो चालकों से अलर्ट पर रहने को कहा है। सुरक्षा बढ़ाए जाने के मद्देनजर सार्वजनिक स्थानों पर गश्त बढ़ा दी गई है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, हमने सार्वजनिक स्थलों पर गश्त बढ़ा दी है। समूह में गश्त, रात में गश्त और वाहनों की जांच केंद्रीय सशस्त्र पुलिसबल की मदद से की जा रही है। मेट्रो स्टेशनों, रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों और बस टर्मिनल पर जांच बढ़ा दी गई है। राजपथ पर मुख्य आयोजन स्थल को सुरक्षित बनाने के अलावा राष्ट्रपति भवन में आयोजित होने वाले जलपान कार्यक्रम के लिए पर्याप्त सुरक्षा और यातायात व्यवस्था की गई है।

रविवार को पुलिस द्वारा यातायात मार्ग परिवर्तन के बारे में एक यातायात परामर्श जारी किया गया है। राजपथ पर विजय चौक से इंडिया गेट तक शनिवार को शाम 6 बजे से रविवार को परेड समाप्त होने तक यातायात को इजाजत नहीं दी जाएगी।

परामर्श के अनुसार पैरा ग्लाइडर्स, पैरा मोटर्स, हैंग ग्लाइडर्स, मानव रहित यान, हल्के विमान, रिमोट संचालित विमान, गर्म हवा के गुब्बारे, छोटे विमान आदि 15 फरवरी तक शहर के क्षेत्राधिकार में निषिद्ध हैं। इसमें लोगों से कहा गया है कि यदि वे कोई अज्ञात वस्तु या संदिग्ध व्यक्ति को देखें तो उसके बारे में नजदीकी थाने को सूचित करें।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख गणतंत्र दिवस से पहले आतंकी हमले की साजिश को भारतीय सेना ने किया विफल, जैश के 3 आतंकी ढेर