विवेक तिवारी हत्याकांड : चश्मदीद सना ने बताई घटना की रात की 'कहानी'

मंगलवार, 2 अक्टूबर 2018 (19:10 IST)
लखनऊ। एप्पल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की पुलिस की गोली से हत्या के मामले में मंगलवार को पुलिस घटनास्थल पर सीन रीक्रिएशन किया गया। विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी तथा विवेक के साथ गाड़ी में रहीं उनकी पूर्व सहयोगी सना खान को एसआईटी ने घटनास्थल पर हत्या के सीन रीक्रिशन के दौरान बुलाया था। इस घटना की चश्मदीद सना खान ने पुलिस को बताया कि किस तरह पूरी घटना हुई।
 
आईजी रेंज सुजीत पांडेय व फॉरेंसिक टीम घटनास्थल पर पहुंची। सना के बयान के आधार पर क्राइम सीन का रीक्रिएशन किया गया। विवेक तिवारी हत्याकांड के लिए गठित एसआईटी के प्रमुख आईजी रेंज सुजीत पांडेय टीम के साथ गोमतीनगर विस्तार के मकदूमपुर पुलिस चौकी के पास घटनास्थल पहुंचे थे।
 
 
विवेक की पत्नी ने मांगी सुरक्षा : एसएसपी कलानिधि नैथानी ने विवेक तिवारी के घर पर जाकर उनकी पत्नी कल्पना तिवारी से घटनाक्रम की जानकारी ली। विवेक के साथ सना और कल्पना के बीच हुई बातचीत के संबंध में भी जानकारी ली। कल्पना ने एसएसपी से सुरक्षा की भी मांग की। इस पर उन्हें महानगर थाने से तो पुलिसकर्मी दिए गए। एसएसपी ने कहा कि कल्पना की मांग पत्र पर उन्हें गनर भी दिया जाएगा।
 
 
सना ने दोहराया अपनाया बयान : सना ने अपना वही बयान दोहराया कि जिस समय दो सिपाही सामने से आए, उस समय उनकी गाड़ी चल रही थी। सिपाहियों ने सामने से गाड़ी रोकी। पीछे बैठा सिपाही डंडा लेकर नीचे उतरा और गाड़ी चला रहा सिपाही पिस्टल लेकर सामने आ गया। उसने गाड़ी रोकने का इशारा किया। विवेक सर ने गाड़ी रोकी और तुरंत ही बैक कर साइड से निकालने की कोशिश की। 
 
इस दौरान गाड़ी का अगला हिस्सा सिपाही की बाइक से टकरा गया, इस पर फिर गाड़ी बैक की और आगे बढ़ाने लगे। इस दौरान ही आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी ने गोली चला दी। गोली विवेक के ठुडडी् के नीचे लगी और वे थोड़ी दूर पर बेहोश हो गए। इसके बाद गाड़ी पिलर अंडरपास के पिलर से टकरा गई।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING