Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

वापस लाया जाएगा चोकसी : सरकार ने कहा- कोशिशें जारीं

webdunia
गुरुवार, 3 जून 2021 (18:43 IST)
नई दिल्ली। विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि भारत अपने इस संकल्प पर कायम है कि भगोड़ों को देश वापस लाया जाए और धोखाधड़ी के मामले में वांछित मेहुल चोकसी को वापस लाने के लिये सारी कोशिशें जारी रखी जाएंगी।
 
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने डिजिटल माध्यम से साप्ताहिक प्रेस वार्ता में कहा कि वह (चोकसी) अभी डोमिनिका में हिरासत में है जहां कुछ कानूनी प्रक्रियाएं चल रही हैं। हम सारी कोशिशें जारी रखेंगे ताकि उसे (चोकसी को) भारत वापस लाया जाए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता से चोकसी के प्रत्यर्पण को लेकर सवाल पूछा गया था जो अभी डोमिनिका में हिरासत में है ।
 
चोकसी हाल ही में एंटीगुआ एवं बारबूडा से फरार हो गया था और उसे कैरिबियाई द्वीपीय देश में कथित तौर पर अवैध रूप से प्रवेश करने के लिए 23 मई को गिरफ्तार कर लिया गया था। उसके खिलाफ डोमिनिका में कानूनी प्रक्रिया चल रही है । चोकसी पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में 13,500 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी मामले में वांछित है।
 
डोमिनिका के एक मजिस्ट्रेट ने भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को जमानत देने से इनकार कर दिया। स्थानीय मीडिया में यह जानकारी दी गई है। चोकसी की बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई कर रहे डोमिनिका उच्च न्यायालय ने अवैध प्रवेश के आरोपों का सामना करने के लिए उसे मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश करने का आदेश दिया।
 
वहीं, फलस्तीन के विदेश मंत्री रियाद माल्की द्वारा गाजा हिंसा पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग में मतदान के दौरान भारत की अनुपस्थिति को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर को पत्र लिखे जाने के संबंध में एक सवाल के जवाब में बागची ने कहा कि फलस्तीन ने उन सभी देशों को एक समान पत्र लिखा है जिन्होंने मामले में दूरी बनाकर रखी, हमारा रुख नया नहीं है, हमने पहले भी दूरी बनाकर रखी है।
 
एंटीगुआ मंत्रिमंडल का निर्णय : एंटीगुआ एंड बारबूडा के मंत्रिमंडल ने एक बैठक में निर्णय लिया कि भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को डोमिनिका से सीधे भारत वापस भेज दिया जाना चाहिए। मंत्रिमंडल के निर्णय के बारे में स्थानीय मीडिया द्वारा प्रकाशित खबर से पता चलता है कि ‘चोकसी से जुड़ा मामला’ बुधवार को हुई बैठक में चर्चा के विषयों में से एक था।
 
मीडिया के अनुसार बैठक में माना गया कि चोकसी अब डोमिनिका की ‘समस्या’ है और यदि वह एंटीगुआ एंड बारबूडा वापस आता है तो कैरीबियाई देश के लिए ‘समस्या फिर लौट आएगी।’ एंटीगुआ एंड बारबूडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउने की अध्यक्षता में हुई बैठक में सभी मंत्री भौतिक और डिजिटल रूप से शामिल हुए।
 
मीडिया प्रतिष्ठान ‘एंटीगुआ ब्रेकिंग न्यूज’ ने कहा कि मंत्रिमंडल की बैठक में निर्णय किया गया कि कानून प्रवर्तन अधिकारी एंटीगुआ से चोकसी के ‘‘बाहर जाने’’ संबंधी परिस्थितियों के बारे में खुफिया जानकारी जुटाना जारी रखेंगे।
 
मंत्रिमंडल के निर्णय के ब्योरे में कहा गया, ‘एंटीगुआ एंड बारबूडा का मंत्रिमंडल इस बात को प्राथमिकता देता है कि चोकसी को डोमिनिका से सीधे भारत भेज दिया जाना चाहिए।’
 
चोकसी 23 मई को रहस्यमय तरीके से एंटीगुआ एंड बारबूडा से लापता हो गया था जहां वह नागरिक के रूप में 2018 से रह रहा था। उसे पड़ोसी द्वीप देश डोमिनिका में अवैध रूप से प्रवेश करने के आरोप में हिरासत में लिया गया। ऐसा कहा जाता है कि वह अपनी कथित प्रेमिका के साथ रोमांटिक तरीके से एंटीगुआ एंड बारबूडा से लापता हो गया था।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

सपा सांसद बर्क का विवादित बयान, अल्लाह से गिड़गिड़ाकर माफी मांग लो, खत्म हो जाएगा Corona