Weather Prediction : उत्तर भारत में ठंड से राहत, कश्‍मीर में बर्फबारी और बारिश की चेतावनी

शनिवार, 4 जनवरी 2020 (08:30 IST)
नई दिल्ली। उत्तर भारत में बीते कुछ दिनों से तापमान में वृद्धि दर्ज की जा रही है, जिससे काफी समय से ठंड का प्रकोप झेल रहे लोगों को राहत मिली है। दिन के तापमान में शुक्रवार को थोड़ी सी और वृद्धि हुई। जबकि कश्मीर में पहाड़ी इलाकों के कई स्थानों पर बर्फबारी और बारिश तथा मैदानी इलाकों में गरज के साथ बारिश होने की चेतावनी जारी की गई है। वहीं ओडिशा के अधिकतर इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश के कारण जनजीवन प्रभावित हुआ।

राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार सुबह मौसम साफ रहा और न्यूनतम तापमान 7.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस मौसम के लिए सामान्य है। वायु गुणवत्ता शुक्रवार को बेहद खराब श्रेणी में दर्ज की गई जो कि पिछले 2 दिनों से गंभीर श्रेणी में थी।

केंद्रीय वायु नियंत्रण बोर्ड ने बताया कि सुबह 8 बजकर 43 मिनट पर वायु गुणवत्ता सूचकांक 390 दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने दिन में आकाश साफ रहने और शनिवार सुबह को मध्यम कोहरा छाए रहने की संभावना जाहिर की है। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं न्यूनतम तापमान शनिवार सुबह 7 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

कश्मीर के कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान में गिरावट आई है। मौसम विभाग ने सप्ताहांत में बारिश की संभावना जताई थी। कश्मीर घाटी के साथ-साथ केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख के अधिकतर हिस्सों में न्यूनतम तापमान में गिरावट आई है। श्रीनगर में शुक्रवार रात न्यूनतम तापमान शून्य से 3.7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि गुलमर्ग में शुक्रवार रात न्यूनतम तापमान शून्य से 8.5 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।

गुलमर्ग घाटी का सबसे ठंडा इलाका बना हुआ है। पहलगाम में न्यूनतम तापमान शून्य से 10 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। वर्तमान में कश्मीर 'चिल्लेकलां' की चपेट में है। यह सर्दियों में 40 दिनों की सबसे कठिन अवधि होती है जब बर्फबारी की संभावना सबसे अधिक होती है और तापमान काफी नीचे चला जाता है।

'चिल्‍लेकलां' 21 दिसंबर को शुरू होकर 31 जनवरी को समाप्त होता है, लेकिन कश्मीर में उसके बाद भी शीतलहर जारी रहती है। हिमाचल प्रदेश में शीतलहर का प्रकोप जारी रहा। कई स्थानों पर तापमान शून्य से नीचे दर्ज किया गया। विभाग के अधिकारी ने 8 जनवरी तक राज्य के मध्यम और ऊंचाई वाले पहाड़ी इलाकों के कई स्थानों पर बर्फबारी और बारिश तथा मैदानी इलाकों में गरज के साथ बारिश होने का अनुमान जताया है।

मौसम विभाग ने बताया कि केलांग में राज्य का सबसे कम न्यूनतम तापमान रिकॉर्ड किया गया जो शून्य से 13 डिग्री सेल्सियस कम था। अधिकतम तापमान में कुछ बढ़ोतरी देखी गई है। अधिकतम तापमान उना में 21.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कल्पा, कुफरी, मनाली, भूंतर और केलांग में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे रिकॉर्ड किया गया।

ओडिशा के अधिकांश हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने से जनजीवन प्रभावित हुआ। मौसम विभाग ने शनिवार तक राज्य में इसी तरह के मौसम की संभावना जताई है। सोनपुर, बौध, बोलंगीर में खापरखोल और कुछ अन्य स्थानों पर सुबह साढ़े 8 बजे तक 3 सेमी बारिश दर्ज की गई।

क्षेत्रीय मौसम विभाग भुवनेश्वर ने शुक्रवार और शनिवार तक कई स्थानों पर वर्षा का अनुमान लगाया है। मौसम विभाग ने कहा कि बादल छाए रहने के कारण न्यूनतम तापमान में मामूली वृद्धि हुई है लेकिन अगले 2 दिनों के में इसमें 2 से 3 डिग्री सेल्सियस तक गिरावट आ सकती है।

पंजाब और हरियाणा में शीतलहर का कहर बरकरार है और यहां बठिंडा और फरीदकोट 3 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ सबसे ठंडे स्थान रहे। मौसम विभाग के अधिकारी ने बताया पंजाब के पठानकोट, आदमपुर, हलवाड़ा और गुरदासपुर में न्यूनतम तापमान क्रमश: 3.3 डिग्री सेल्सियस, 3.1 डिग्री सेल्सियस, 5.2 डिग्री सेल्सियस और 6.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वहीं अमृतसर, लुधियाना और पटियाला में तापमान क्रमश: 4.4, 7,2 और 6.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हरियाणा के अंबाला, हिसार और करनाल में न्यूनतम तापमान क्रमश: 6.2 डिग्री सेल्सियस, 5.7 डिग्री सेल्सियस और 6.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हरियाणा के नारनौल, रोहतक, भिवानी और सिरसा में न्यूनतम तापमान क्रमश: 5.5, 7.4, 6.7 और 6.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान 6.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। फरीदकोट, पटियाला, बठिंडा, आदमपुर. हलवाड़ा, हिसार और भिवानी में घना कोहरा छाया रहा।

राजस्थान के अधिकतर इलाकों में न्यूनतम तापमान धीरे-धीरे बढ़ने से लोगों को कुछ राहत मिली है और जनजीवन पटरी पर लौटता दिख रहा है। मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार शुक्रवार सुबह 8 बजे तक न्यूनतम तापमान के लिहाज से माउंट आबू राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा, जहां न्यूनतम तापमान 3.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं गंगानगर में न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस, पिलानी में 5.7 डिग्री, चुरू में 6.3 डिग्री, बीकानेर में 6.8 डिग्री दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान 16.8 से 25 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख सुलेमानी की मौत के बाद पश्चिम एशिया में बढ़ा तनाव, अमेरिका ने भेजे 3000 सैनिक