Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Weather Alert : दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से नीचे, राजस्थान में रेड अलर्ट

हमें फॉलो करें webdunia
शनिवार, 31 जुलाई 2021 (07:51 IST)
नई दिल्ली। उत्तर भारत के कई हिस्सों में भी भारी बारिश हो रही है। दिल्ली में यमुना आज खतरे के निशान से नीचे बह रही है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने राजस्थान के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी कर राज्य के कई जिलों में अत्यंत भारी बारिश का अनुमान लगाया है। वहीं मध्य प्रदेश के लगभग आधे हिस्से में भारी से भारी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए विभाग ने ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया है।
 
दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से नीचे : दिल्ली के लिए भी ‘ऑरेंज’ अलर्ट जारी किया गया है। मौसम वैज्ञानिक ने शनिवार को मध्यम बारिश और निचले इलाक़ों में जलजमाव की आशंका जाहिर की है। राजधानी में यमुना के डूब वाले इलाकों में शुक्रवार को भारी बारिश के बीच जलस्तर खतरे के निशान 205.33 मीटर को पार कर गया था। आज सुबह यमुना खतरे के निशान से नीचे बह रही थी।

webdunia
राजस्थान में भारी बारिश : तटीय बांग्लादेश व सटे हुए पश्चिम बंगाल के ऊपर बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण दक्षिण पश्चिम मानसून ने जोर पकड़ लिया है और राजस्थान में अच्छी बारिश हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार, पिछले चौबीस घंटे में राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश हुई है। विभाग ने अगले चौबीस घंटों में कई जिलों में बहुत भारी बारिश की चेतावनी देते हुए 'रेड अलर्ट जारी' किया है।
 
उसके अनुसार, पिछले 24 घंटों में राजस्थान के करौली, भरतपुर, धौलपुर, दौसा, अलवर, झुंझुनूं, चुरू व हनुमानगढ़ जिलों में भारी वर्षा दर्ज की गई। सबसे अधिक बारिश श्रीमहावीरजी (करौली) में 268 मिमी दर्ज की गई है। 
 
मध्यप्रदेश में भारी बारिश का अलर्ट : आईएमडी ने मध्यप्रदेश के लगभग आधे हिस्से में भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान जताते हुए शुक्रवार को ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। प्रदेश में अब तक औसत से तीन फीसदी अधिक बारिश हो चुकी है।
 
आईएमडी भोपाल के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी जीडी मिश्रा ने बताया कि ऑरेंज अलर्ट शनिवार सुबह तक प्रभावी है। प्रदेश में रीवा, सीधी, सतना, सिंगरौली, शहडोल, उमरिया, अनूपपुर, ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, अशोक नगर, दतिया, श्योपुर, मुरैना और भिंड सहित 24 जिलों में अलग अलग स्थानों पर गरज और बिजली के साथ भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।
 
webdunia
लाहौल स्पीति में 200 से ज्यादा लोग फंसे :हिमाचल प्रदेश के लाहौल -स्पीति में इस सप्ताह के प्रांरभ में बादल फटने और भारी बारिश के बाद जगह-जगह भूस्खलन होने से 200 से अधिक लोग फंस गए हैं जबकि शुक्रवार को तीन ट्रैकर लापता बताए गए।
 
शिमला मौसम विज्ञान केंद्र ने तीन अगस्त तक भारी बारिश की येलो चेतावनी जारी कर लोगों से नदियों और जल इकाइयों के निकट नहीं जाने की सलाह दी है क्योंकि हाल के दिनों में भारी बारिश की वजह से इनका जलस्तर बढ़ सकता है। वहीं पाँच अगस्त तक मैदानी और निचले एवं मध्य पहाड़ी इलाकों में भारी बारिश और भूस्खलन की घटनाओं का अनुमान लगाया गया है।
 
webdunia
जम्मू कश्मीर में फिर राहत अभियान : जम्मू कश्मीर में किश्तवाड़ जिले के एक गांव में बादल फटने के बाद लापता 20 हुए लोगों का पता लगाने के लिए बचाव अभियान शुक्रवार को फिर से शुरू हो गया। इससे पहले खराब मौसम के कारण अभियान को कुछ घंटों के लिए रोकना पड़ा था। दचन तहसील के सुदूर होंजर गांव में बुधवार को तड़के बादल फटने की घटना में सात लोगों की मौत हो गई और 17 अन्य व्यक्ति जख्मी हो गए। इस घटना में 21 मकान, एक राशन भंडार, एक पुल, एक मस्जिद और गायों के लिए बने 21 शेड भी क्षतिग्रस्त हो गए।
 
यूपी और बंगाल में 9 की मौत : उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में भारी बारिश के कारण एक मकान की छत ढहने से तीन लोगों की मौत हो गई और चार अन्य घायल हुए हैं। पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को बारिश से संबंधित घटनाओं में छह लोगों की मौत हो गई। इनमें से पांच लोगों की मौत राज्य के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश के बाद दीवार गिरने से हुई।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

सीमा विवाद गहराया, मिजोरम पुलिस ने असम के CM समेत 7 खिलाफ दर्ज की FIR